एसएसबी और नेपाल आर्म्ड पुलिस फ़ोर्स के बीच तीसरी उच्चस्तरीय समन्वय बैठक

424
सशस्त्र सीमा बल (SSB-एसएसबी)
भारत और नेपाल के बीच तीसरी उच्च स्तरीय समन्वय बैठक में एसएसबी के महानिदेशक रजनीकांत मिश्र और आर्म्ड पुलिस फ़ोर्स (एपीएफ-APF) के महानिरीक्षक शैलेन्द्र खानल. Source/SSB

भारत और नेपाल के बीच तीसरी उच्च स्तरीय समन्वय बैठक में दोनों देशों की अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर तैनात दोनों बलों सशस्त्र सीमा बल (SSB-एसएसबी) और आर्म्ड पुलिस फोर्स के बीच पारस्परिक सहयोग और समन्वय को बढ़ाने पर चर्चा हुई. बैठक में भारत-नेपाल सीमा पर होने वाले अपराध व तस्करी तथा सम्बन्धित अपराधियों व तस्करों की जानकारियां साझा करने एवं मानव तस्करी रोकने पर बातचीत हुई.

यह बैठक 8 अगस्त को सशस्त्र सीमा बल (SSB-एसएसबी) के नई दिल्ली स्थित मुख्यालय में हुई. बैठक में नेपाली दल की अगुआई वहां की आर्म्ड पुलिस फ़ोर्स (एपीएफ-APF) के महानिरीक्षक शैलेन्द्र खानल ने की. नेपाल का आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल इस समन्वय बैठक में भाग लेने के लिए 7 से 10 अगस्त, 2018 तक भारतीय दौरे पर था. भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व एसएसबी के महानिदेशक रजनीकांत मिश्र (आईपीएस) ने किया. यह जानकारी एसएसबी की प्रेस रिलीज में दी गई.

सशस्त्र सीमा बल (SSB-एसएसबी)
भारत और नेपाल के बीच तीसरी उच्च स्तरीय समन्वय बैठक में एसएसबी और आर्म्ड पुलिस फ़ोर्स (एपीएफ-APF) का प्रतिनिधिमंडल. Source/SSB

रिलीज के अनुसार बैठक में भारत-नेपाल अंतरराष्ट्रीय सीमा की मौजूदा संवेदनशील परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए सीमाओं की सुरक्षा को बनाए रखने पर भी विशेष रूप से बातचीत हुई. इसके अतिरिक्त प्रभावी सीमा प्रबंधन के लिए सभी स्तरों पर नियमित समन्वय बैठकों का आयोजन जारी रखने पर भी वार्ता हुई. पारस्परिक दोस्ताना समझ के साथ सीमा मुद्दों को संभालने के लिए सहयोग जारी रखने पर भी चर्चा की गई.

विज्ञप्ति में बताया गया कि नेपाल प्रतिनिधिमंडल ने भारत सरकार द्वारा नेपाल आर्म्ड पुलिस फ़ोर्स के प्रशिक्षुओं के प्रशिक्षण तथा एपीएफ की मूलभूत क्षमताओं में विस्तार के लिए निरंतर समर्थन व सहयोग की सराहना की. यह समन्वय बैठक मैत्रीपूर्ण संबंधों को सुदृढ़ता प्रदान करने के लिए कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा के साथ सौहार्दपूर्ण माहौल में समाप्त हुई. अगली समन्वय बैठक 2019 में नेपाल में प्रस्तावित है.

जानिये, सशस्त्र सीमा बल के जवानों ने क्यों ली ये शपथ

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here