उत्तर प्रदेश पुलिस का गाजियाबाद में तेजस मोटर साइकिलों का दल

15
तेजस मोटर साइकिलों के दल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया.

उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद में कुछ खास तरह के अपराधों को रोकने और अपराधियों को रंगे हाथ पकड़ने के मकसद से पुलिस ने हाई स्पीड मोटर साइकिलों के दल ‘तेजस’ का गठन किया है. इस दल में फिलहाल आठ मोटरसाइकिलें हैं और हरेक मोटर साइकिल थाने को अलाट की गई है. गाज़ियाबाद जिला पुलिस की हरसाओं लाइंस में सोमवार को इन तेजस मोटर साइकिलों के दल को हरी झंडी दिखाकर सम्बन्धित थानों के लिए रवाना किया गया.

तेजस मोटर साइकिलों का मुख्य काम अपने – अपने थाने के इलाकों में उन जगहों की खास निगरानी रखना है जहां झपटमारी की वारदात ज़्यादा होती हैं . इन ज़्यादातर वारदात में अपराधियों ने महिलाओं को शिकार बनाया है . गाज़ियाबाद की पुलिस ने ज़िले में ऐसे 30 स्पॉट चिन्हित किये हैं जहां अपराधी गले से चेन , मोबाइल फोन और पर्स झपटने की वारदात ज्यादा करते हैं . दुपहिया वाहनों पर वारदात करके संकरे रास्तों और गलियों से फरार हो जाने वाले वाले इन झपटमारों से निपटने के लिए प्रत्येक तेजस मोटर साइकिल पर दो पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे . ये इन चिन्हित जगहों पर लगातार निगाह रखेंगे और गश्त करेंगे .

तेजस दल की लांचिंग के वक्त मोटर साइकिल सवार पुलिसकर्मी वर्दी में थे लेकिन स्पॉट पर तैनाती के वक्त ये खाकी वर्दी में नहीं होंगे . गाज़ियाबाद के पुलिस अधीक्षक (शहर ) श्लोक कुमार के मुताबिक़ दोनों सिपाही साधारण लिबास में रहेंगे. उन्होंने बताया कि इस तरह की अब तक हुई वारदात के मामलों के अध्ययन में कुछ ट्रेंड सामने आये हैं जिनका अध्ययन किया गया है . इस दौरान पाया गया की किसी स्पॉट विशेष पर एक ख़ास समय में अपराधी ऐसी वारदात करते हैं . उन जगहों पर उस समय ये मोटर साइकिलें ख़ास तौर से निगरानी करेंगी .

गाज़ियाबाद के एसपी (सिटी ) श्लोक कुमार का कहना है की फिलहाल आठ मोटर साइकिलें इस ख़ास काम में लगाई गयीं हैं लेकिन ज़रुरत महसूस होने पर इनकी संख्या बढ़ाई भी जा सकती है . ये आठ थाने हैं : इंदिरापुरम , कवि नगर , साहिबाबाद , लिंक रोड , विजय नगर , सिहानी गेट , कोतवाली और खोड़ा .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here