जम्मू कश्मीर में एसआई भर्ती में घोटाले की बू, गड़बड़ी मिली तो लिस्ट रद्द होगी

19
पुलिस भर्ती में घोटाला
पुलिस उप निरीक्षकों की भर्ती में गड़बड़ियों की जांच का ऐलान जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने गुरुवार को ऊधमपुर में पुलिस अकेडमी में पुलिस उपाधीक्षकों (डीएसपी) और प्रोबेशनरी सब इंस्पेक्टरों की पासिंग आउट परेड के मौके पर किया.

जम्मू एवं कश्मीर सेवा चयन बोर्ड (jammu and kashmir services selection board) की पुलिस उप निरीक्षकों (सब इंस्पेक्टर – sub inspector) की भर्ती में गड़बड़ियों की काफी शिकायतें सामने आने के बाद भर्ती प्रक्रिया को निलंबित कर दिया गया है. भर्ती बोर्ड की परीक्षा के नतीजे 4 जून को ऑनलाइन घोषित किये गए थे. जम्मू कश्मीर के अतिरिक्त सचिव (गृह) के नेतृत्व में गठित एक समिति इस पूरे मामले की जांच कर रही है.

जम्मू एंड कश्मीर सर्विसेज सलेक्शन बोर्ड की तरफ से आयोजित परीक्षा में कथित घोटाले की जांच का ऐलान जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने आज ऊधमपुर में शेर ए कश्मीर पुलिस अकेडमी में पुलिस उपाधीक्षकों (डीएसपी) और प्रोबेशनरी सब इंस्पेक्टरों की पासिंग आउट परेड के मौके पर अपने संबोधन में किया. उन्होंने साथ में ये भी बताया कि इस जांच की रिपोर्ट निश्चित समय सीमा में आएगी. अगर जांच में पाया गया कि भर्ती प्रक्रिया में कुछ गड़बड़ियां की गई हैं तो भर्ती सूची रद्द कर दी जाएगी. उपराज्यपाल मनोज सिन्हा का कहना था कि अब तक प्रशासन की तरफ से की गई अन्य भर्तियों पर कोई उंगली नहीं उठी लेकिन लोगों के जहन में कोई आशंका है तो प्रशासन को निष्पक्ष तरीके से जांच और कार्रवाई करनी चाहिए.

जम्मू एवं कश्मीर सेवा चयन बोर्ड की पुलिस सब इंस्पेक्टर भर्ती के नतीजे आने के बाद से ही स्थानीय मीडिया में इस बाबत ख़बरें आने लगीं थी. बीते 2 -3 दिन में समाचार पत्रों में छप रही ख़बरों में कई उम्मीदवारों ने भर्ती में ‘धोखाधड़ी’ और ‘नाजायज़ तरीके’ अपनाये जाने के इलज़ाम लगाए हैं. इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने पोस्ट डालनी शुरू कर दी थीं. खासतौर से इनमें उन मामलों पर सवाल उठाए गए जिनमें सगे भाइयों को सलेक्ट किया गया.