Uncultured club में झगड़ा : हटाए गए पुलिस अफसर को टेक्नोलॉजी एंड इम्प्लीमेंटेशन डीसीपी बनाया

12
IPS-Shankar-Choudhary
आईपीएस शंकर चौधरी

दिल्ली में एक पार्टी के दौरान हंगामे के कारण विवाद और सुर्ख़ियों की वजह बने दिल्ली पुलिस के उपायुक्त ( डीसीपी – DCP ) शंकर चौधरी का तबादला कर दिया गया है. उनके स्थान पर एम हर्ष वर्धन को दिल्ली के द्वारका ज़िले का डीसीपी बनाया गया है. दिल्ली पुलिस के कुछ अधिकारियों के तबादले की उस संक्षिप्त सूची में डीसीपी शंकर चौधरी का भी नाम है जो मंगलवार को दिल्ली सरकार के गृह विभाग से जारी किये गए.

किसका तबादला कहां :

इस आदेश के मुताबिक़ भारतीय पुलिस सेवा के 2011 बैच के अधिकारी और द्वारका ज़िले के डीसीपी शंकर चौधरी को पुलिस टेक्नोलॉजी एंड इम्प्लीमेंटेशन ( DCP, police technology and implementation ) डीसीपी नियुक्त किया गया है. उनकी जगह पर 2011 बैच के आईपीएस एम हर्ष वर्धन को दिल्ली के द्वारका ज़िले का डीसीपी बनाया गया है जो अब तक दिल्ली के दक्षिण ज़िले में एडिशनल डीसीपी ( प्रथम ) के पद पर थे. दक्षिण ज़िले में ही तैनात अतिरिक्त उपायुक्त ( द्वितीय ) पवन कुमार को एम हर्षवर्धन के काम का अतिरक्त प्रभार सौंपा गया है. पवन कुमार 2009 बैच के दानिप्स ( DANIPS ) अधिकारी हैं.

दूसरी तरफ नई दिल्ली रेंज के ज्वाइंट कमिश्नर ( joint commissioner – संयुक्त आयुक्त ) आईपीएस अमरेन्द्र कुमार सिंह को ट्रांसपोर्ट रेंज का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. अमरेन्द्र कुमार सिंह 2004 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं.

तबादले की वजह :

आईपीएस शंकर चौधरी का नाम दरअसल शनिवार तड़के दिल्ली के ग्रेटर कैलाश थाना पुलिस को पुलिस नियंत्रण कक्ष (PCR – पीसीआर ) के ज़रिये से मिली शिकायत में सामने आया था. शिकायतकर्ता ने कहा था कि एक क्लब अनकल्चर्ड में डीसीपी शंकर चौधरी ने एक महिला के सिर पर गिलास मारकर ज़ख़्मी कर दिया. हालांकि बाद में पीड़ित महिला ने एक वीडियो जारी कर इसे पारिवारिक व गलतफहमी के कारण हुई घटना बताया.

ये महिला एक क्लब में जन्मदिन मनाने आई थी. वैसे पुलिस को की गई पीसीआर काल से शिकायत के कुछ ही देर बाद महिला ने एक वीडियो जारी किया जिसमें उसने बताया कि वह अपने परिवार के साथ परिवार के एक सदस्य का जन्मदिन मनाने क्लब में आई थी. कार्यक्रम के दौरान महिला के ऊपर एक गिलास गिरने से वह घायल हो गई थी. इसी दौरान पार्टी में एक व्यक्ति गिलासों के साथ खेल रहा था जिससे महिला के पति को लगा कि वह गिलास उसने ही महिला पर गिराया होगा. इसी गलतफहमी के कारण विवाद बढ़ा और इसके बीच डीसीपी का नाम सामने आया जो वहां पर थे.