पिथौरागढ़ के जंगल और पहाड़ों में सैनिकों ने शुरू किया Kazind 2019

100
भारत और कज़ाकिस्तान की सेना के बीच चौथा वार्षिक सैन्य अभ्यास काजिंद - 2019.

भारत और कज़ाकिस्तान की सेना के बीच चौथा वार्षिक सैन्य अभ्यास काजिंद – 2019 (Kazind 2019 ) उत्तराखंड में आज पिथौरागढ़ में शुरू हुआ. इस अभ्यास का मकसद जंगल और पहाड़ी इलाकों में अलगाववाद निरोधी और आतंकवाद निरोधी ऑपरेशन में सैनिकों को संयुक्त प्रशिक्षण देना है. Kazind 2019 को भारत और कज़ाकिस्तान के बीच लंबे समय तक रणनीतिक संबंधों के एक आयाम के रूप में देखा जा सकता है.

भारत और कज़ाकिस्तान की सेना के बीच चौथा वार्षिक सैन्य अभ्यास काजिंद – 2019.

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक़ काजिंद के तहत उग्रवाद और आतंकवाद निरोधी अभियानों से संबंधित महत्वपूर्ण व्याख्यान, प्रदर्शन और अभ्यास आयोजित किए जाएंगे. दोनों सेनाएं ऐसी परिस्थितियों का मुकाबला करने में अपने बहुमूल्य अनुभवों को भी साझा करेंगी तथा संयुक्त अभियानों के लिए अभ्यास और प्रक्रियाओं को परिष्कृत करेंगी.

भारत और कज़ाकिस्तान की सेना के बीच चौथा वार्षिक सैन्य अभ्यास काजिंद – 2019.

Kazind 2019 का समापन 15 अक्टूबर को 72 घंटे के अभ्यास के साथ किया जाएगा . इसमें आतंकवाद निरोधी ऑपरेशन के तहत सैनिकों के संयुक्त कौशल का प्रदर्शन किया जाएगा.

भारत और कज़ाकिस्तान की सेना के बीच चौथा वार्षिक सैन्य अभ्यास काजिंद – 2019.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here