डीआईएटी ने लगातार दूसरी बार स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन जीता

23
सांकेतिक तस्वीर

पुणे स्थित डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस टेक्नोलॉजी (डीआईएटी) ने स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन (एसआईएच) -2020 में पहला पुरस्कार जीता है. डीआईएटी भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के तहत स्वायत्त संगठन हैं. इस आयोजन के लाइव इवेंट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रतिभागियों के साथ बातचीत की थी.

मानव संसाधन विकास मंत्रालय और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने संयुक्त रूप से 1 से 3 अगस्त के दौरान उत्तर प्रदेश के नोएडा इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (एनआईईटी) में एसआईएच -2020 का आयोजन किया था. एसआईएच -2020 दरअसल 36 घंटे का नॉन-स्टॉप डिजिटल उत्पाद निर्माण पर आधारित राष्ट्रीय स्तर का मुकाबला था.

डॉ सुनीता धवले के मार्गदर्शन में डीआईएटी के छह सदस्यों की छात्र टीम “एज ऑफ अल्ट्रॉन” ने सॉफ्टवेयर की श्रेणी में मध्य प्रदेश सरकार द्वारा प्रस्तुत समस्या कथन एमएस 331 को हल करने के लिए 1 लाख रुपये का प्रथम पुरस्कार जीता. टीम ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करके चेहरे, अभिव्यक्ति और हावभाव पहचान के लिए “दृष्टि” शीर्षक से समाधान प्रस्तुत किया.

रक्षा अनुसंधान विभाग के सचिव और डीआरडीओ के चेयरमैन डॉ जी सतीश रेड्डी ने लगातार दूसरी बार पुरस्कार जीतने पर डीआईएटी टीम को बधाई दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here