झारखण्ड : CRPF और पुलिस के साथ मुठभेड़ में 5 नक्सली मारे गये

843
CRPF
नक्सलियों को मार गिराने वाली सीआरपीएफ की कमांडो बटालियन और झारखंड राज्य की पुलिस के जवान.

केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ-CRPF) की कमांडो बटालियन और झारखंड राज्य की पुलिस के संयुक्त आपरेशन के दौरान जबरदस्त फायरिंग के बीच पांच नक्सली मारे गये और दो को घायल हालत में गिरफ्तार किया गया. मंगलवार की सुबह-सुबह किये गये इस नक्सल निरोधक ऑपरेशन को स्थानीय स्तर पर इसलिये भी बड़ी सफलता के तौर पर देखा जा रहा है क्यूंकि इसमें ढेर किये गये नक्सलियों के नाम की फेहरिस्त में दो लाख रूपये के इनामी दुर्दांत एरिया कमांडर प्रभु सहाय का नाम भी है. साथ ही नक्सलियों से बड़ी मात्रा में असलाह भी बरामद हुआ है.

CRPF
नक्सलियों से बरामद हथियार.

असल में सोमवार की आधी रात के बाद, एक गुप्त सूचना के आधार पर नक्सलियों को खोजने के लिए खूँटी जिले के अड़की थाना क्षेत्र और पश्चिम सिंहभूम में बदगाँव थाना क्षेत्र में ये आपरेशन किया गया था. इसका नेतृत्व सीआरपीएफ की 209 कोबरा बटालियन के उप कमान्डेंट (Deputy Commandant ) विक्की कुमार पाण्डेय और सहायक कमान्डेंट (Assistant Commandant ) जितेन्द्र सिंह कर रहे थे. साथ में 54 जवान थे जबकि राज्य की खूंटी ज़िला पुलिस की तरफ से सहायक पुलिस अधीक्षक (ASP) अनुराग राज के साथ साथ पुलिस उपाधीक्षक (DSP) कुलदीप और मात्र 6 जवान थे.

सीआरपीएफ के प्रवक्ता के मुताबिक़ मंगलवार सुबह के साढ़े छह बजे का वक्त रहा होगा जब तलाशी अभियान के दौरान नक्सलियों ने अचानक सुरक्षा बलों पर धावा बोल दिया. सीआरपीएफ और पुलिस ने भी उन्हें तगड़ा जवाब देना शुरू कर दिया. इस हमले की पीछे पीएलएफआई (माओ) के नक्सली थे. जवाबी फायरिंग में नक्सली एरिया कमांडर प्रभु सहाय बोदरा के अलावा उसके चार और साथी मारे गये. इनमें से एक का नाम पलटन और दूसरे का नाम बच्चा है जबकि उनके गिरफ्तार साथियों के नाम सोमा मुंडा और प्रवीण मुंडू हैं.

सीआरपीएफ के मुताबिक इन नक्सलियों के पास से दो एके राइफल, दो 303 राइफल और पांच पिस्तौल के साथ गोलियां बरामद हुईं हैं.