आईआईटी और दिल्ली पुलिस मिलकर करेंगे तकनीक आधारित पुलिसिंग

18
Informative Image
आईआईटी दिल्ली और दिल्ली पुलिस के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर.

दिल्ली पुलिस और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मिलकर एक ऐसे केंद्र की स्थापना करने जा रहे हैं जिसमें तकनीक की मदद से अपराध नियंत्रण और पुलिस के काम को बेहतर किया जा सके. इससे पुलिस को तकनीकी विकास में सहयोग मिलेगा और खास तौर से साइबर अपराधों से निपटने की क्षमता बढ़ेगी.

आईआईटी दिल्ली में सेंट्रर फॅार टेक्नोलोजी एंड पुलिसिंग की स्थापना के लिए आईआईटी के रजिस्ट्रार और दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त आयुक्त (साइबर और तकनीक) के बीच एक एमओयू पर हस्ताक्षर किये गये. सोमवार को इस रस्मी कार्यक्रम में दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक और आईआईटी दिल्ली के निदेशक भी मौजूद थे.

Informative Image
आईआईटी दिल्ली और दिल्ली पुलिस के बीच समझौता

एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक सेंटर आफ टेक्नोलोजी अपराध, कानून व्यवस्था बनाये रखने में, यातायात प्रबंधन, प्रशासन, खुफिया जानकारी जुटाने और नागरिक सेवा जांच में सही तकनीकी की पहचान करने में मदद करेगा. इस केंद्र का मकसद ऐसी तकनीक पर काम करना है जोकि विभिन्न हित धारकों द्वारा अपनाई जा सके. साथ ही क्षमता निर्माण और कौशल को बढाने के लिए विभिन्न तकनीकी समाधानों को शामिल करना भी इस केंद्र का काम होगा. इतना ही नहीं ये केंद्र पुलिसिंग और तकनीक के उपयोग के लिए नीतियों और दिशा निर्देशों और मानक संचालन प्रक्रिया को तैयार करने मे भी मददगार होगा.

उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिल्ली पुलिस और आईआईटी के अधिकारियों को शुभकामना देते हुए कहा कि तकनीक के युग में पुलिस को अपराध नियंत्रण के लिए तकनीक आधारित उपकरणों से लैस होना चाहिए. इंजीनियरिंग और तकनीक, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मौजूदा संचार प्रणाली में सुधार पुलिस की दक्षता और प्रभावशीलता को बढ़ाने में मदद करेगा.

दिल्ली पुलिस की तरफ से बताया गया कि वे लगातार अपनी क्षमताओं को आधुनिक बनाने एवं नई तकनीक को अपनाने, स्टेट-आफ-आर्ट तकनीक की संभावनाओं को तलाशने और उन्नत तकनीक के जरिये अपराध का प्रबंधन, कानून व्यवस्था प्रबंधन, यातायात प्रबंधन, खुफिया जानकारी इकट्ठा करना, आतंकी गतिविधियों से लडने और नागरिक सेवाएं प्रदान करने का काम कर रही है.

वहीँ दिल्ली के उपराज्यपाल श्री बैजल ने कहा कि बढ़ती हुई तकनीक के साथ तालमेल रखने के लिए इंजीनियरिंग, तकनीक, कानून और पब्लिक पालिसी जैसे विशेष क्षेत्रों में काम करने वाले अनुसंधान संगठनों, विश्वविद्यालय और निजी संगठनों के विभिन्न हित धारकों को शामिल करना आवश्यक हो गया है.

आईआईटी, दिल्ली अकादमिक उत्कृष्टता और अनुसंधान के क्षेत्र में एक प्रमुख और तेजी से बढ़ता हुआ संस्थान है. इस संस्थान ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और अनुंसधान का केन्द्र होने की वजह से भारत और विदेशों में भी एक सराहनीय प्रतिष्ठा अर्जित की है. उम्मीद की जा रही है कि यह समन्वय दिल्ली पुलिस और आईआईटी की क्षमताओं को बढाने में मदद करेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here