पंजाब और एमपी के बाद दिल्ली, पुणे और मुंबई पुलिस में भी कोरोना का कहर

42
दिल्ली में भारत नगर थाने में तैनात सिपाही अमित कुमार

भारत में लगातार पैर पसार रही वैश्विक महामारी नोवेल कोरोना वायरस (कोविड 19) के संक्रमण को रोकने के लिए लॉक डाउन और इससे सम्बन्धित ड्यूटी और अग्रिम मोर्चे पर लड़ रही पुलिस के लिए भी खतरा बढ़ता जा रहा है. पंजाब और मध्य प्रदेश राज्यों में पुलिस अधिकारियों की जान लेने वाले कोविड 19 के संक्रमण अब दिल्ली, मुम्बई और उससे करीबी पुणे में भी तैनात इस जन रक्षकों पर कहर बरपाना शुरू कर दिया है. भारत के विभिन्न राज्यों से और इन हिस्सों से सैकड़ों पुलिसकर्मियों के कोविड 19 संक्रमण से बीमार होने के मामले तो सामने आये हैं लेकिन अब इस कोरोना वारियर्स की मौत की सूचनाओं का दुर्भाग्यपूर्ण सिलसिला शुरू हो गया है.

दिल्ली पुलिस में अमित कुमार :

दिल्ली में भारत नगर थाने में तैनात 31 वर्षीय सिपाही अमित कुमार की मृत्यु को भी कोविद 19 संक्रमण से जोड़कर देखा जा रहा है. दिल्ली के निकटवर्ती हरियाणा के सोनीपत के निवासी अमित को ड्यूटी के दौरान बीमार होने पर कल दीपचंद बन्धु अस्पताल में ले जाया गया था. डॉक्टरों ने जांच के बाद उन्हें दवाई दे दी थी और साथ ही कोविड 19 की जांच के लिए सैम्पल भी लिए थे.समाचार लिखे जाने तक पुलिस के पास उसकी रिपोर्ट के बारे में जानकारी नहीं आई थी. शाम को फिर से अमित की तबीयत बिगड़ी तो राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया लेकिन अस्पताल पहुँचने से पहले ही सिपाही अमित ने प्राण त्याग दिए. अस्पताल में डॉक्टरों ने अमित को मृतावस्था में लाया घोषित किया. उत्तर पश्चिम दिल्ली के भारत नगर थाने में तैनात अमित कुमार का परिवार सोनीपत के हुल्हेड़ी गांव में रहता है. अमित के परिवार में पत्नी और तीन साल का बेटा है.

पुणे में एएसआई दिलीप पोपट लोंधे :

पुणे के एएसआई दिलीप पोपट लोंधे

इससे पहले सोमवार को महाराष्ट्र के पुणे शहर की पुलिस के लिये कोविड 19 का सन्क्रमण बुरी खबर लेकर आया था. पुणे शहर के मध्य क्षेत्र के थाने में तैनात सहायक उपनिरीक्षक (एएसआई) दिलीप पोपट लोंधे ने कोविड 19 के संक्रमण से बीमार होने के कारण दम तोड़ दिया था. एएसआई दिलीप पोपट को नोवेल कोरोना वायरस के रोग की चपेट में आने के बाद इलाज के लिये पुणे के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था. पुणे के पुलिस कमिश्नर के. वेंकटेशम ने ट्वीट करके इस बारे में सूचना दी. पुणे में हाल ही में जो दर्जन भर पुलिसकर्मी कोविड 19 की चपेट में आकर बीमार हुए हैं उनमें से काफी वो हैं जो उसी थाने में ड्यूटी कर रहे थे जिसमें एएसआई दिलीप पोपट लोंधे तैनात थे. उन सभी को क्वारनटाइन (एकांतवास) में रखा गया है.

मुम्बई में दो हवलदार:

मुम्बई पुलिस में तैनात हवलदार चन्द्रकांत जी पेंदुलकर की भी कोविड 19 की चपेट में आने से जान गई. 57 वर्षीय चन्द्रकांत जी पेंदुलकर पूर्वी सांताक्रूज़ के वकोला थाने में तैनात थे और वर्ली की प्रेम नगर कॉलोनी में रहते थे. वहीं नवी मुम्बई के क्मोठे थाने में तैनात हवलदार संदीप एम. सुर्वे ने भी इस संक्रमण से 10 दिन जंग लड़ने के बाद प्राण दे दिए. 52 वर्षीय संदीप एम. सुर्वे को 23 अप्रैल को यहाँ के एमजीएम अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. हालांकि अभी ये नहीं पता चल पाया कि इन दोनों पुलिसकर्मियों तक कोरोना वायरस का संक्रमण कहां से पहुंचा. लेकिन सावधानी के तौर पर, उनके सम्पर्क में रहे लोगों को उनके घरों में ही क्वारंटाइन कर दिया गया है.

मुम्बई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने इस दो अनुभवी पुलिस कर्मियों की मृत्यु पर अफ़सोस ज़ाहिर करते हुए उनके प्रियजनों के प्रति संवेदना प्रकट की है. कमिश्नर ने ट्वीट करते हुए दिए संदेश में कहा कि मुम्बई पुलिस ने दो बहादुरों को खो दिया है.

हिदायतें जारी :

इस बीच तमाम अधिकारियों को निर्देश दिए गये है कि धारावी स्लम और संक्रमण की वजह से घोषित ऐसे ही कन्टेनमेंट ज़ोन में पुलिसकर्मियों की तैनाती के वक्त उनके स्वास्थ्य को ध्यान में रखा जाये. निर्देश दिए गये हैं कि ऐसे कोविड 19 की वजह से चिन्हित ऐसे अत्यधिक संवेदनशील स्थानों पर उन पुलिकर्मियों को तैनात न किया जाये जो हाईपरटेंशन या ऐसी व्याधियों के पहले से शिकार हैं.

उल्लेखनीय है कि पंजाब के लुधियाना शहर में एसीपी अनिल कोहली की जान भी कोविड 19 के सन्क्रमण ने ली थी. अप्रैल के महीने में मध्य प्रदेश में इंदौर और उज्जैन के दो एसएचओ की जान ये संक्रमण लील गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here