दिल्ली पुलिस के साहसी सिपाही राजीव को बारी से पहले तरक्की मिली

57
बहादुर सिपाही राजीव को मिला प्रमोशन.

दिल्ली पुलिस के कमिश्नर एस एन श्रीवास्तव ने सिपाही राजीव को बहादुरी और साहस दिखाने के लिए सम्मान और पुरस्कार के तौर पर बारी से पहले एक रैंक की तरक्की देकर हेड कांस्टेबल बनाने को मंजूरी दी है. लुटेरों की गोली से जख्मी हुए राजीव का ऑपरेशन किया गया है और फिलहाल वह अस्पताल के आईसीयू में हैं. राजीव को चेहरे पर गोली लगी है.

दरअसल, ये घटना दिल्ली के द्वारका के भरथल गाँव के पास 15 मार्च की रात की है जब राजीव और होम गार्ड अजय कुमार गश्त पर थे. उन्हें वहां एल एंड टी निर्माण स्थल पर गोली चलने की खबर गार्ड ने जैसे ही दी वैसे ही दोनों उस तरफ लपके लेकिन फायरिंग करने वाले तब तक फरार हो चुके थे. इसके बाद दोनों ने उसी इलाके में बदमाशों की तलाश शुरू कर दी.

तलाशी के दौरान भरथल गाँव के बाहरी हिस्से में एक प्लाट में राजीव और अजय ने कोई हलचल देखी. जब वहां मौजूद कुछ लोगों पर उन्हें शक हुआ और उनसे पूछताछ करने लगे तो वो चारों अलग अलग दिशा में भागने लगे. राजीव और अजय ने मिलकर एक को दबोच लिया और उसे पूछताछ के लिए द्वारका के सेक्टर 23 थाने में ले जाने लगे. लेकिन उस बदमाश के दुस्साहसी तीनों साथी उसे छुडाने के लिए लौट आये और उन्होंने सिपाही राजीव पर गोली दाग दी. गोली राजीव के चेहरे पर लगी फिर भी घायल राजीव ने ज़मीन पर गिरते गिरते भी अपने हथियार से बदमाशों को जवाब दिया और उन पर फायरिंग कर डाली. हालांकि इस आपाधापी में, हिरासत में लिया गया बदमाश छूट गया.

राजीव को चेहरे में दायीं तरफ गोली लगी थी. उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी सर्जरी की गई. इस बीच फरार बदमाशों की तेज़ी से तलाश कर उनमें से दो को तो 12 घंटे के अन्दर गिरफ्तार कर लिया गया. उनसे पूछताछ के बाद बाकी दोनों लुटेरे भी पकड लिए गये. दिल्ली पुलिस में दस साल पहले भर्ती हुए राजीव की, उसके साथी और वरिष्ठ अधिकारी तारीफ कर रहे हैं. उसके काम की वजह से ही उसको बारी से पहले तरक्की देने की अनुशंसा की गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here