जम्मू कश्मीर के गरीब बच्चों को भारत घुमा रही है सीआरपीएफ

878
सीआरपीएफ ने इन बच्चों को पोशाक और जूते भी उपलब्ध कराए हैं.

जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले के गाँवों के गरीब परिवारों के बच्चों को केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ-CRPF) ने दिल्ली और कोलकाता घुमाने का बन्दोबस्त करके गुरुवार को रवाना किया. सीआरपीएफ की सुंदरबनी स्थित 72 बटालियन ने सीआरपीएफ के सिविक एक्शन कार्यक्रम के तहत ऐसे बच्चों को भारत की अहम जगहों पर घुमाने का सिलसिला शुरू किया है जिनके लिये अपने राज्य तक में सैर सपाटा करना आर्थिक हालात के नज़रिये से मुमकिन नहीं है.

सीआरपीएफ
राजौरी जिले के गाँवों के गरीब परिवारों के बच्चों को सीआरपीएफ ने दिल्ली और कोलकाता घुमाने का बन्दोबस्त करके गुरुवार को रवाना किया.

सुंदरबनी में तैनात CRPF की 72 बटालियन के कमांडेंट दिनेश कुमार ने बताया कि ये राजौरी के दूरदराज़ के गांवों के स्कूलों में पढ़ने वाले ऐसे 14 बच्चे हैं जिनके परिवार गरीबी रेखा से भी नीचे आने वाले परिवारों में हैं. CRPF ने इन बच्चों की दुनियावी समझ और ज्ञान बढ़ाने के लिए इस कार्यक्रम की शुरुआत की है.

बच्चों को भारत दर्शन के लिए रेलवे स्टेशन ले जाने से पहले सुंदरबनी में कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें राजौरी ज़िले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जुगल मन्हास भी विशेष तौर पर आमंत्रित थे. सरकारी स्कूलों के इन बच्चों को ऐतिहासिक और दार्शनिक महत्व की जगह, स्मारक वगैरह भी दिखाए जायेंगे. कमांडेंट दिनेश कुमार का कहना था कि इस तरह बच्चों का सिर्फ मनोरंजक सैर-सपाटा ही नहीं होगा, इन्हें देश के बाकी हिस्सों के रहन-सहन, खान‌‌-पान, संस्कृति और सभ्यता को समझने का भी मौका मिलेगा.

सीआरपीएफ अधिकारियों की देखरेख में बच्चों का ये भारत भ्रमण कराया जा रहा है. सीआरपीएफ ने इन बच्चों के आने जाने और खाने पीने का तो इंतज़ाम किया ही है, इनको पोशाक और जूते भी उपलब्ध कराए हैं.