चार बच्चों की मां जेनी कैरिगनन केनडा की पहली महिला सर्वोच्‍च सैन्‍य कमांडर बनीं

23
केनडा के इतिहास ( history of canada ) में ऐसा  पहली बार हुआ है जब  एक मह‍िला को देश का सर्वोच्‍च सैन्‍य कमांडर नियुक्त किया गया है. घरेलू मोर्चे पर तमाम तरह की द‍िक्‍कतों से जूझ रहे केनडा के  प्रधानमंत्री जस्‍ट‍िन ट्रूडो  के नेतृत्व वाली सरकार ने लेफ्टिनेंट-जनरल जेनी कैरिगनन को चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ ( chief of defence staff ) बनाने का फैसला लिया है .  जेनी कैरिगनन  18 जुलाई को केनडा के  रक्षा प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालेंगी.  दुनियाभर में ऐसे उदाहरण बहुत कम देखने को मिले हैं जब किसी महिला फौजी अफसर को चीफ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ बनाया गया हो .  जेनी कैरिगनन 18 जुलाई को कार्यभार संभालेंगी।

लेफ्टिनेंट-जनरल जेनी कैरिगनन (Lieutenant General Jennie Carignan ) यूं तो मूल रूप से एक सैन्‍य इंजीनियर हैं. उन्हें  सेना में काम करने का 35 साल का तजुर्बा है .  जेनी अफगानिस्तान युद्ध, बोस्निया-हर्जेगोविना, इराक और सीरिया में सैनिकों की कमान संभाल चुकी हैं. केनडा के प्रधानमंत्री जस्‍ट‍िन ट्रूडो ( pm justin trudeau) ने कहा कि  जेनी ने अब तक असाधारण लीडरश‍िप दिखाई है. उनमें नेतृत्‍व की गज़ब  क्षमता है. सेना और सेवा के प्रत‍ि समर्पण उनकी पूंजी रही है.और वे हमारे सशस्‍त्र बलों के ल‍िए हमेशा कमांडर की तरह रही हैं.

जेनी कैरिगनन जिन वर्तमान रक्षा प्रमुख जनरल वेन आइरे का स्थान लेंगी.  वह केनेडियन  सशस्त्र बल (सीएएफ – CSF) से सेवानिवृत्त हो रहे हैं.

केनडा के राष्ट्रीय रक्षा मंत्री बिल ब्लेयर  ( national  defence minister bill blair ) ने कहा , “लेफ्टिनेंट-जनरल जेनी कैरिगनन ने कनाडा की देश और विदेश दोनों जगहों पर बहुत ही शानदार सेवा की है. अपने पूरे करियर के दौरान, उन्होंने मुश्किल ऑपरेशनों में उत्कृष्टता का एक सिद्ध ट्रैक रिकॉर्ड बनाया है. उनका व्यापक अनुभव उन्हें उभरती सुरक्षा चुनौतियों के माध्यम से कनाडाई सशस्त्र बलों का नेतृत्व करने के लिए सही व्यक्ति बनाता है और मुझे उनके नेतृत्व में इस महत्वपूर्ण संस्थान के भविष्य पर पूरा भरोसा है.  मैं चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के रूप में उनकी नियुक्ति पर लेफ्टिनेंट-जनरल कैरिगनन को हार्दिक बधाई देता हूं और हमारे साथ मिलकर काम करने की आशा करता हूं.”

लेफ्टिनेंट-जनरल जेनी कैरिगनन दो कॉम्बैट इंजीनियर रेजिमेंट, रॉयल मिलिट्री कॉलेज सेंट-जीन और केनडा  डिवीजन को संभाल चुकी हैं, जहां 10 हजार से ज्यादा सैनिकों ने उनकी कमान के मातहत काम किया है . साल 2008 में जेनी कैरिगनन सीएएफ इतिहास में लड़ाकू हथियार इकाई की कमान संभालने वाली पहली महिला बनीं थीं.  वह  2019 से 2020 तक नाटो मिशन के तहत इराक में तैनात रहीं.

लेफ्टिनेंट-जनरल जेनी कैरिगनन को 2021 में अपने वर्तमान पद पर पदोन्नत किया गया था और पिछले तीन साल  से वह राष्ट्रीय रक्षा में व्यावसायिक आचरण और संस्कृति प्रमुख  (Chief of  Professional Conduct and Culture, National Defence) के पद पर कार्यरत हैं.  वह इस पद को संभालने वाली पहली व्यक्ति हैं, जिसे विभाग और कनाडाई सशस्त्र बलों (CAF) के भीतर प्रणालीगत कदाचार को समझने और संबोधित करने के तरीके में परिवर्तनकारी बदलाव का नेतृत्व करने के लिए बनाया गया था.

लेफ्टिनेंट जनरल जेनी के पति एरिक भी अधिकारी के तौर पर फ़ौज का हिस्सा रहे हैं . सेना में 22 साल इंजीनियर रहे एरिक 2008 में रिटायर हो गए थे, इस दम्पति के चार बच्चे हैं. रिटायरमेंट लेने के बाद से एरिक घर सम्भालते थे . तब बच्चे छोटे थे. दिलचस्प यह भी है कि उनमें से दो बच्चे भी केनडा सुरक्षा बल  (csf ) में सेवा दे रहे हैं .  यह  परिवार कनाडा के क्यूबेक सिटी का रहने वाला एक साधारण परिवार है जो बेहद ख़ास बन गया है .