फर्ज़ पर न्योछावर हुए दिल्ली पुलिस के एएसआई शम्भूदयाल

17
दिल्ली पुलिस
सहायक पुलिस निरीक्षक शम्भू दयाल

दिल्ली पुलिस के सहायक पुलिस निरीक्षक (assistant sub inspector) शम्भू दयाल ने आखिर प्राण त्याग दिए. बुधवार की दोपहर बाद उनको घायल अवस्था में बीएल कपूर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां रविवार को उन्होंने अंतिम सांस ली. उन पर एक ऐसे बदमाश ने हमला किया था जो महिला का फोन लूटकर भागा था और शम्भूदयाल उसे पकड़कर थाने ला रहे थे. बदमाश का नाम अनीश राज है जिसकी उम्र तकरीबन 24 साल है.

दिल्ली पुलिस
सहायक पुलिस निरीक्षक शम्भू दयाल के पार्थिव शरीर को कंधा देते पुलिस आयुक्त संजय अरोरा, स्पेशल कमिश्नर सागरप्रीत हूडा व अन्य अधिकारी

अपने फर्ज़ पर कुर्बान हुए एएसआई शम्भूदयाल का अंतिम संस्कार राजस्थान के नीमका थाना तहसील के गवली बिहारीपुर गांव में किया गया. शम्भूदयाल सीकर के रहने वाले थे.

दिल्ली पुलिस
सहायक पुलिस निरीक्षक शम्भू दयाल को श्रद्धांजलि देते पुलिस आयुक्त.

इस पूरे घटनाक्रम की शुरुआत बुधवार को उस वक्त हुई जब पश्चिम दिल्ली के मायापुरी की रहने वाली वंदना नाम की महिला वंदना दोपहर बाद 4 बजे पुलिस से मदद मांगने के लिए मायापुरी थाने में पहुंची. महिला ने पुलिस को बताया कि एक बदमाश ने उसका मोबाइल फोन छीन लिया और चाक़ू मारने की धमकी भी दी.

दिल्ली पुलिस
सहायक पुलिस निरीक्षक शम्भू दयाल का पैतृक गांव में अंतिम संस्कार

महिला की शिकायत पर एएसआई शम्भूदयाल उसे लेकर उस स्थान पर पहुंचे जहां अनीश मौजूद था. वो एक झुग्गी बस्ती में रहता था. जब एएसआई शम्भूदयाल अनीश को पकड़कर थाने ले जाने लगे तो अनीश ने कमीज़ के भीतर छिपाया हुआ चाकू अचानक निकालकर शम्भूदयाल पर ताबड़तोड़ कई वार कर डाले. शम्भूदयाल के पेट, सीने और गर्दन पर उसने हमला किया. यहां तक की पीठ पर घाव हुए. अनीश ने वहां से भागने की कोशिश की लेकिन इस बीच वहां और पुलिस कर्मी पहुंच गए. अनीश को थाने ले जाया गया और घायल शम्भूदयाल को करोल बाग़ के पास बीएल कपूर अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वहीं पर उनका इलाज चल रहा था लेकिन उनको बचाया न जा सका.