सीआरपीएफ के नेकदिल और ईमानदार इंस्पेक्टर को मिला DG का Commendation Certificate

847
सीआरपीएफ
सीआरपीएफ के महानिदेशक राजीव राय भटनागर इंस्पेक्टर जय प्रकाश भावसर को प्रशस्ति प्रमाण पत्र (Commendation Certificate) प्रदान करते हुए.

वाकई सीआरपीएफ के इंस्पेक्टर जय प्रकाश भावसर के लिये ये वे गौरव के क्षण हैं जिसकी उन्होंने कभी कल्पना नहीं की थी. उनकी ईमानदारी आज हर एक की जुबान पर है तो उनके हौसलों की उड़ान उनके दिल की गहराइयों से निकले शब्दों से आसानी से समझी जा सकती है. उन्होंने न सिर्फ एक अद्वितीय उदाहरण पेश किया है बल्कि वर्दी का गौरव शिखर तक पहुंचा दिया है. भावसर को बार-बार सलाम करने को जी चाहता है. दरअसल एक कोरियाई नागरिक यून सेंग्यून का पर्स जेब से गिर गया था जो उन्हें दफ्तर जाते समय कैलाश कालोनी (दिल्ली) के पास मिला था (पूरी कहानी आप नीचे दिये लिंक पर पढ सकते हैं). उस पर्स को उसके हकदार तक पहुंचाने की कहानी बेहद दिलचस्प है. भावसर सीआरपीएफ महानिदेशालय की यूनिट में तैनात हैं.

CRPF का एक इंस्पेक्टर फोर्स के साथ साथ कोरियाई नागरिक यून सेंग्यून का भी हीरो बना

यह तो हुआ पर्स के मिलने और उसके मालिक तक पहुंचाने का किस्सा. इसके बाद हुआ यह कि भावसर सोशल मीडिया के ही नहीं बल्कि पूरी सीआरपीएफ के हीरो बन गये. उनको महानिदेशक राजीव राय भटनागर ने बुलाया और शाबाशी देने के साथ प्रशस्ति प्रमाण पत्र (Commendation Certificate) प्रदान किया. इसमें घटना का जिक्र होने के साथ लिखा है, “आपने ईमानदारी की सर्वोच्च ऊंचाई का प्रदर्शन करते हुए फोर्स की परम्पराओं को बरकरार रखा है.” अब आपको इस ईमानदार अफसर भावसर की उन भावनाओं से उन्हीं के शब्दों में अवगत कराते हैं जो उन्हें प्रशस्ति पत्र मिलने से पहले और बाद में महसूस हुई. भावसर ने rakshaknews.in को जैसा बताया…

सीआरपीएफ़
कोरियाई नागरिक यून सेंग्यून (दाएं) और सीआरपीएफ़ के इंस्पेक्टर जय प्रकाश भावसर

दिनांक 11 July की घटना का समाचार फोर्स के officer से पाकर हमारे DG sir, बहुत ही ज्यादा खुश थे. उन्हें इस घटना का पता कल शाम में ही चल चुका था, DG sir, ने सभी से मेरे कार्य की तारीफ की, जिसके बारे में मुझे अपने senior officers से पता चल गया. फोर्स के बहुत से senior officers ने मुझे personnally फोन कर बधाई दी और तारीफ की. मेरे साथियों ने भी बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं दी हैँ,

कल दिनांक 12 July 2018 को सभी senior officers ने मुझसे घटना का पूरा detail पूछा और मेरी बात ध्यान से सुनी. उनकी आँखों में और शब्दों में मेरे काम की तारीफ और प्रसन्नता झलक रही थी. विशेषकर IG prov मैडम ने मुझसे ध्यान से पूरी घटना पूछी. मुझे पुरस्कृत करने के लिए आज दिनांक 12 July को 1:20 बजे का समय निर्धारित किया गया और मेरे senior officers की उपस्थिति में मुझे प्रशस्ति पत्र DG महोदय द्वारा प्रदान कर सम्मानित किया गया, और DG महोदय ने प्रसन्नता व्यक्त की और बड़ी तारीफ की.

मुझे दिल से महसूस हुआ कि किसी भी force members के अच्छे काम के करने पर senior officers के साथ साथ सभी member बहुत खुश होते हैं. मैंने तो एक छोटा सा काम किया जिसके लिए मुझे बहुत तारीफ मिली, बहुत बहुत शुभकामनाएं मिलीं, मैं बहुत खुश हूँ कि मेरे द्वारा ईश्वर ने यह नेक कार्य करवाया. और जो मैंने wallet road से उठाते सोचा था, उसमें सफल हुआ जिसे मैं बहुत खुश हूँ. मुझे अपने भारतीय होने पर और CRPF का सदस्य होने पर गर्व है. साथ ही CRPF PRO BR, media सहित DIG IT DINAKARAN SIR और मेरे INCHARGE श्री अभिराम PANKAJ, 2 I/C ord, SI मनोज वर्मा और others ने इसे media में publish कर दूसरे लोगों को प्रेरणा लेने के लिय विवश करने का कार्य किया उनके प्रति कृतज्ञ हूँ.