रक्षा मंत्रालय के कार्यक्रम में मंत्रियों और अफसरों ने किये योगासन

22
योगाभ्यास
21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022 से पूर्व सेनाधिकारियों के साथ दिल्ली में योग करते रक्षामंत्री राजनाथ सिंह.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्रालय के बड़े अफसरों ने रक्षा मंत्रालय की तरफ से आयोजित एक ऐसे कार्यक्रम में योगाभ्यास किया जिसमें आम लोग भी शामिल थे. दरअसल, ये आगामी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022 को ध्यान में रखते हुए उसकी तैयारियों के तहत नई दिल्ली में रक्षा मंत्रालय की तरफ से किया गया था.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने विभिन्न आसन किये और साथ ही योग को लेकर सम्बोधन भी किया. उनके साथ रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट, वित्तीय सलाहकार (रक्षा सेवायें) संजय मित्तल, रक्षा सम्पदा विभाग के महानिदेशक अजय कुमार शर्मा भी थे.

इस अवसर पर अपने सम्बोधन में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि युगों-युगों से चला आ रहा योग भारत की महानतम धरोहर है, जो लोगों के जीवन में नई ऊर्जा का संचार करता है तथा उन्हें स्वयं और प्रकृति से एकाकार करता है. उन्होंने कहा कि योग मन को अनुशासित करता है और उसे स्वस्थ बनाता है. वह कर्तव्यों के पालन में दक्षता लाता है. योग किसी खास समय पर किया जाने वाला व्यायाम नहीं है, बल्कि उसके पीछे यह तर्क भी है कि इससे दक्षता व सजगता के साथ दैनिक कार्यों को पूरा करने की शक्ति व प्रेरणा मिलती है. उन्होंने कहा कि योग हमारे विचारों, ज्ञान, दक्षता और समर्पण को मजबूत बनाता है.

योगाभ्यास
21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022 से पूर्व सेनाधिकारियों के साथ दिल्ली में योग करते रक्षामंत्री राजनाथ सिंह.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने योग को परिभाषित करते हुये कहा कि यह मधुमेह, उच्च रक्तचाप, और अवसाद सहित विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं का निदान करने का रास्ता है, क्योंकि योग आंतरिक संघर्ष और तनाव से छुटकारा दिलाता है. उन्होंने कोविड-19 महामारी का सामना करने में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिये योगासनों और प्राणायाम के अमूल्य योगदान पर प्रकाश डाला.

रक्षा मंत्री ने इस बात की प्रशंसा की कि संयुक्त राष्ट्र आमसभा ने स्वास्थ्य और आरोग्य की आमूल परिकल्पना के तौर पर योग को मान्यता दी.

श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जब से संयुक्त राष्ट्र आमसभा ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से स्वीकार किया है, तब से ही सशस्त्र बल, भारतीय तट रक्षक, रक्षा सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम और रक्षा मंत्रालय के सभी विभाग पूरे उत्साह के साथ इन समारोहों में हिस्सा लेते रहे हैं. इसके लिये राजनाथ सिंह ने सभी बलों-विभागों की तारीफ़ की. उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि वे अपने सुखद और संतुलित जीवन की अभिलाषा पूरी करने के लिये योगाभ्यास करें.