खबरदार … सावधान ..! सेना और पुलिस में भर्ती होने वाले यूं ठगे जा रहे हैं

12
भारतीय सेना
गिरफ्तार पूर्व सैनिक एम बीनू

भारतीय सेना के एक पूर्व सैनिक को ऐसे कई युवाओं से लाखों रूपये ठगने के इलज़ाम में गिरफ्तार किया गया है जो अग्निपथ योजना के तहत भर्ती होकर अग्निवीर (सैनिक) बनना चाहते थे. एम बीनू नाम का ये पूर्व सैनिक 42 साल का है और इसे मिलिटरी इंटेलिजेंस (military intelligence) से मिली सूचना के आधार पर किये गए ऑपरेशन के तहत गिरफ्तार किया है.

मिलिटरी इंटेलिजेंस को खबर मिली थी कि एम बीनू ऐसे कई युवाओं को ये कहकर ठग चुका है कि वो उनको भारतीय सेना (indian army) में भर्ती की प्रक्रिया के आखिरी दौर में क्लीयर करवा देगा. इस सूचना के बाद कोल्लम ज़िले में तिरुवनंतपुरम में पंगोड़े मिलिटरी स्टेशन की स्पेशल टीम ने कुदरा थाने की पुलिस के साथ मिलकर एक ऑपरेशन के तहत एम बीनू को धर दबोचा. छानबीन के दौरान पता चला कि पूर्व सैनिक एम बीनू ने, अग्निवीर बनने के इच्छुक 25 से 30 लाख युवाओं को ठगा है और उनसे तकरीबन 30 लाख रुपये ऐंठे हैं. इसके लिए उसने भारतीय सेना के नाम और जाली दस्तावेज का सहारा लिया. कोल्लम ज़िले के दक्षिण मेनकापल्ली गांव का रहने वाला एम बीनू फिलहाल स्थानीय पुलिस की हिरासत में है.

स्थानीय अदालत ने उसे 14 दिन की पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया था. इस मामले में भारतीय सेना भी अलग से छानबीन कर सकती है.

वर्दीधारी संगठनों में भर्ती होने के इच्छुक नौजवानों को ठगने का ये हाल ही में दूसरा मामला सामने आया है. कुछ ही दिन पहले पंजाब में पुलिस में भर्ती कराने के नाम पर कुछ नौजवानों को ठगने के आरोप में पंजाब पुलिस के एक डीएसपी और उसकी वकील पत्नी को गिरफ्तार किया गया था.