भारत और कज़ाखस्तान के बीच रक्षा सहयोग पर सहमति

5
"मेक इन इंडिया फॉर द वर्ल्ड, इंडिया- कजाखस्तान रक्षा सहयोग: वेबिनार और एक्सपो" वेबिनार में भारतीय अधिकारी

रक्षा निर्यात को बढ़ावा देने के मकसद से भारत और कजाखस्तान के बीच एक वेबिनार आयोजित किया गया जिसमें दोनों देशों के राजदूत और दोनों पक्षों के रक्षा मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया. 15-16 अक्‍टूबर को आयोजित “मेक इन इंडिया फॉर द वर्ल्ड, इंडिया- कजाखस्तान रक्षा सहयोग: वेबिनार और एक्सपो” वेबिनार का मूल विषय था. इसे फिक्की (FICCI) के माध्यम से रक्षा मंत्रालय के रक्षा उत्पादन विभाग की ओर से आयोजित किया गया था.

यह आयोजन उन वेबिनार श्रृंखला का हिस्सा है, जो अगले पांच वर्षों में रक्षा निर्यात को बढ़ावा देने और 5 बिलियन डॉलर के रक्षा निर्यात लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए भारत मित्र देशों के साथ आयोजित कर रहा है.

“मेक इन इंडिया फॉर द वर्ल्ड, इंडिया- कजाखस्तान रक्षा सहयोग: वेबिनार और एक्सपो” वेबिनार में कजाख अधिकारी

एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक़ दोनों देशों के अधिकारियों और प्रतिनिधियों ने सह-विकास और सह-उत्पादन के लिए ही नहीं, बल्कि एक-दूसरे की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए अवसरों का लाभ उठाने की आवश्यकता के बारे में चर्चा की.

कई भारतीय कंपनियों जैसे एल एंड टी डिफेंस, अशोक लीलैंड लिमिटेड, भारत फोर्ज, ज़ेन टेक्नोलॉजीज, एलकॉम इनोवेशन, हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड, अल्फा डिज़ाइन टेक्नोलॉजीज और भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड द्वारा आर्टिलरी सिस्टम, रडार, संरक्षित वाहन, मिसाइल और वायु रक्षा उपकरण, प्रशिक्षण समाधान आदि जैसे प्रमुख प्लेटफार्मों/उपकरणों पर आधारित कंपनी और उत्पादों की प्रस्तुति इस वेबिनार में की गई. बीईएल ने कजाखस्तान में प्रतिनिधि कार्यालय खोलने की अपनी योजना की घोषणा की.

वेबिनार में 350 से अधिक प्रतिभागियों और 39 वर्चुअल प्रदर्शनी स्टालों ने भाग लिया. इनमें एक्सपो में लगाए गए कजाख कंपनियों के 7 स्टॉल शामिल हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here