एयर चीफ मार्शल भदौरिया की आखिरी उड़ान, 30 सितम्बर को उनकी जगह चौधरी लेंगे

30
भारतीय वायु सेना
भारतीय वायु सेना के प्रमुख चीफ एयर मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया की आखिरी उड़ान.

भारतीय वायु सेना के प्रमुख चीफ एयर मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने वायुसैनिक के तौर पर सेना में अपने करियर की आखिरी उड़ान भरी. मार्शल भदौरिया 30 सितम्बर को रिटायर होंगे. मार्शल आरकेएस भदौरिया की जगह एयर मार्शल विवेक राम चौधरी (marshal vivek ram chaudhari) को भारतीय वायु सेना के चीफ ऑफ़ एयर स्टाफ (CoAS) होंगे. एयर मार्शल विवेक राम चौधरी ने 1 जुलाई 20 21 को भारत के उप वायुसेना प्रमुख का ओहदा संभाला था. यही नहीं मार्शल विवेक राम के स्थान पर एयर मार्शल संदीप सिंह की भी भारतीय वायु सेना में बतौर उप प्रमुख नियुक्ति का ऐलान किया गया है.

भारतीय वायु सेना
आरकेएस भदौरिया ने जब हलवारा स्थित मिग 21 (MIG 21) वाली 23 स्क्वाड्रन से अपना करियर शुरू किया था. यह तब की तस्वीर है.

एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया (air chief marshal rks bhadauriya) के करियर की आखिरी उड़ान की तस्वीरें भारतीय वायु सेना (IAF) के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल पर शनिवार को जारी की गई. ये तस्वीर 13 सितम्बर की बताई गई है लेकिन इसमें ये नहीं बताया गया कि वायु सेना प्रमुख ने उस रोज़ कौन सा लड़ाकू विमान उड़ाया. दिलचस्प ये है कि चीफ मार्शल भदौरिया ने उसी हलवारा बेस से ही उड़ान भरना पसंद किया जहां से उन्होंने बतौर एक लड़ाकू विमान पायलट के तौर पर अपना करियर शुरू किया था. तब आरकेएस भदौरिया हलवारा स्थित मिग 21 (MIG 21) वाली उस 23 स्क्वाड्रन में थे जिसे पैंथर्स स्क्वाड्रन (panthers sqd) कहा जाता है. वायु सेना की तरफ से मार्शल भदौरिया की उस वक्त की तस्वीर भी साझा की गई है. मतलब जहां से श्री भदौरिया ने अपना करियर शुरू किया, वहीं पर आकर समाप्त किया.

विवेक राम चौधरी :

सरकार ने इसी हफ्ते मार्शल वीआर चौधरी (Air Marshal Vivek Ram Chaudhari) को वायु सेना का प्रमुख बनाने के फैसले का ऐलान किया था. वायुसेना का उप प्रमुख बनाए जाने से पहले एयर मार्शल चौधरी भारतीय वायुसेना की पश्चिमी वायु कमान (WAC ) के कमांडर-इन-चीफ के तौर पर तैनात थे. वायु सेना की पश्चिम कमान अति संवेदनशील लद्दाख क्षेत्र के साथ ही उत्तर भारत के अन्य हिस्सों में देश के वायु क्षेत्र की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी संभालती है.

भारतीय वायु सेना
एयर मार्शल विवेक राम चौधरी

एयर मार्शल चौधरी 29 दिसंबर, 1982 को वायु सेना में शामिल हुए थे. उनको कई तरह के लड़ाकू और प्रशिक्षण विमानों पर 3800 घंटे से अधिक उड़ान भरने का तजुर्बा है. कई अहम पदों पर सेवा दे चुके मार्शल विवेक राम चौधरी अग्रिम मोर्चे पर तैनात लड़ाकू स्क्वाड्रन के कमांडिंग ऑफिसर रह चुके हैं. यही नहीं विवेक राम चौधरी फ्रंटलाइन फाइटर बेस की भी कमान संभाल चुके हैं. वो एक काबिल उड़ान प्रशिक्षक और उपकरण रेटिंग प्रशिक्षक के साथ साथ परीक्षक की भी पहचान रखते हैं.

इसकी वजह ये है कि मार्शल विवेक राम चौधरी ने तकरीबन 38 साल के अपने करियर में भारतीय वायुसेना के विभिन्न प्रकार के जो लड़ाकू और प्रशिक्षण विमान उड़ाए हैं उनमें मिग-21 (MIG 21) , मिग-23 एमएफ, मिग-29 और सुखोई-30 एमकेआई Su MKI) लड़ाकू विमान शामिल हैं.

भारतीय वायु सेना
एयर मार्शल संदीप सिंह.