दिल्ली पुलिस : नये निज़ाम में नया स्टाइल-आयुक्त सचिवालय बना, रोमिल बानिया OSD

697
दिल्ली पुलिस
दिल्ली पुलिस मुख्यालय

भारतीय पुलिस सेवा के गुजरात कैडर से आये दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर राकेश अस्थाना के काम करने के स्टाइल ने शुरुआत में तो सबको चौंका कर रख दिया है. उनके आयुक्त बनने के बाद पहली बार दिल्ली पुलिस मुख्यालय (police headquarters) में आयुक्त सचिवालय (commissioner secretariat) का गठन किया गया है और जिसकी कमान एडीशनल कमिश्नर रैंक के अधिकारी को सौंपी गई है. ये अधिकारी भारतीय पुलिस सेवा के एजीएमयूटी कैडर के 2007 बैच के आईपीएस रोमिल बानिया हैं. उन्हें पुलिस कमिश्नर के विशेष कर्तव्य अधिकारी यानि ओएसडी का ओहदा दिया गया है. उनके अलावा दिल्ली पुलिस आयुक्त सचिवालय में उपायुक्त (डीसीपी DCP) स्तर के दो और अधिकारियों व सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी ACP) स्तर के एक अधिकारी को तैनात किया गया है.

समझा जाता है कि ये सचिवालय, कैडर के बाहर से आये कमिश्नर अस्थाना को, नीतिगत फैसले लेने और दिल्ली पुलिस की विभिन्न यूनिटों के कामकाज पर निगाह रखने में सीधे पुलिस कमिश्नर की सहायता करेंगे. साथ ही ये सचिवालय एक तरह के कोआर्डिनेशन का काम भी करेगा ताकि जहां फैसले लेने में सटीकता और रफ्तार हो वहीं एक उचित स्तर पर गोपनीयता भी बरकरार रखी जा सके.

दिल्ली पुलिस के एडीशनल कमिश्नर (additional commissioner) और डिप्टी कमिश्नर (डीसीपी DCP ) स्तर पर तबादलों की जो छोटी सी और साधारण सी लगने वाली लिस्ट गुरुवार को उपराज्यपाल कार्यालय से जारी हुई है उसमें चार अधिकारियों के आयुक्त सचिवालय में तबादले की जानकारी दी गई है. वैसे इनमें एक एसीपी का भी नाम है. दिल्ली पुलिस की सामान्य प्रशासनिक शाखा के एडीशनल कमिश्नर रोमिल बानिया को पुलिस कमिश्नर सचिवालय में विशेष कर्तव्य अधिकारी यानि ओएसडी के तौर पर स्थानांतरित किया गया है.

दिल्ली पुलिस
भारतीय पुलिस सेवा के एजीएमयूटी कैडर के 2007 बैच के आईपीएस रोमिल बानिया

दानिप्स (दिल्ली अंडमान निकोबार द्वीप समूह पुलिस सेवा – DANIPS ) कैडर के 2009 बैच के केपीएस मल्होत्रा को आर्थिक अपराध शाखा से हटाकर कमिश्नर सेक्रेटेरियट में डीसीपी-प्रथम और दक्षिण पूर्व ज़िले में बतौर डीसीपी (द्वितीय) के पद पर तैनात ढाल सिंह पाटले (दानिप्स – 2010 बैच) को कमिश्नर सेक्रेटेरियट में डीसीपी-2 तैनात किया गया है. वहीँ महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों की जांच करने वाले क्राइम अगेंस्ट वीमेन सेल (CAW cell) में तैनात एसीपी तनु शर्मा को भी आयुक्त सचिवालय में तैनात किया गया है. तनु शर्मा दानिप्स के 2013 बैच की अधिकारी है.

आमतौर पर पूर्व में सहायक पुलिस कमिश्नर (एसीपी) या अतिरिक्त उपायुक्त (एडिशनल डीसीपी) या डीसीपी रैंक के अधिकारी पुलिस कमिश्नर के स्टाफ ऑफिसर/ओएसडी तैनात किये जाते थे और वे भी दानिप्स (दिल्ली अंडमान निकोबार द्वीप समूह पुलिस सेवा) कैडर के होते थे जिन्हें लम्बे समय की सेवा के बाद तरक्की देकर आईपीएस कैडर मिलता है. आमतौर पर इन्होंने थाना स्तर या सब डिवीज़न स्तर पर खासा काम किया होता था. वहीं कमिश्नर के दफ्तरी काम में सहायता के लिए इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर रैंक के अधिकारी होते थे.

नये कमिश्नर राकेश अस्थाना ने इस परम्परा को बदलते हुए सचिवालय का गठन किया है और सीधे आईपीएस सेवा से आये अधिकारी रोमिल बानिया को अपना ओएसडी बनाया है. श्री बानिया एजीएमयूटी कैडर के 2007 बैच के अधिकारी हैं. वैसे उनका नाम 2018 में तब सुर्ख़ियों में आया था जब तत्कालीन पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने ‘यूनिटेक बिल्डर मामले’ में सीबीआई की तरफ से दक्षिण दिल्ली ज़िला के कुछ पुलिस अधिकारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई के बाद उनको (श्री बानिया को) को सबसे प्रतिष्ठित इस ज़िले से हटाकर पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज स्थानांतरित कर दिया था. इसके बाद श्री बानिया का तबादला दिल्ली से बाहर हो गया था. अब श्री बानिया तरक्की पाने के बाद दिल्ली लौटे थे.

वैसे आयुक्त कार्यालय में सचिवालय का गठन इसलिए भी किया गया बताया जाता है ताकि पुलिस कमिश्नर के दफ्तर में वरिष्ठ अधिकारियों की सीधी आमदरफ्त को कम किया जा सके. इससे एक स्तर पर नेतृत्व स्तर पर होने वाले फैसलों को गोपनीय रखने में मदद मिलेगी साथ ही गैरज़रूरी समझे जाने वाले दखल को कम करने में सहायता होगी. दिल्ली पुलिस में तबादलों के लिए पहले से ही गठित पांच सदस्यों वाली समिति से भी सम्भवत: यह सचिवालय कोआर्डिनेशन करेगा ताकि पुलिस आयुक्त अंतिम आदेश से पहले फीडबैक ले सकें. माना जा रहा है कि अब जल्द ही दिल्ली पुलिस में विभिन्न स्तर पर तबादले होंगे.

अन्य तबादले :

ताज़ा स्थानांतरण सूची के मुताबिक़ टेक्नोलोजी सेल (Technology cell) में एडीशनल कमिश्नर एजीएमयूटी कैडर के 2005 बैच के आईपीएस रजनीश गुप्ता को रोमिल बानिया की जगह पर सामान्य प्रशासन शाखा में स्थानांतरित किया गया है. वहीं नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (NDMC) में प्रतिनियुक्ति पर गये भारतीय पुलिस सेवा के एजीएमयूटी कैडर के 2008 बैच के आईपीएस संजय त्यागी को वापस लौटने पर डीसीपी (सुरक्षा) तैनात किया गया है.