बिहार की बेटी नीना सिंह राजस्थान की पहली महिला डीजीपी बनी

582
नीना सिंह
भारतीय पुलिस सेवा की अधिकारी नीना सिंह

भारतीय पुलिस सेवा की अधिकारी नीना सिंह ने राजस्थान पुलिस के इतिहास में एक नया पन्ना जोड़ दिया है. बिहार की ये बेटी राजस्थान में पुलिस महानिदेशक के रैंक पर पहुँचने वाली पहली महिला अधिकारी बन गई हैं. अभी तक अतिरिक्त महानिदेशक रही 57 वर्षीय नीना सिंह के महानिदेशक बनने का समाचार रविवार को आया था. उनके अलावा आईपीएस उमेश मिश्रा को भी पदोन्नति मिली है. अब तक अतिरिक्त महानिदेशक (ख़ुफ़िया) के पद पर रहे उमेश मिश्रा को अब महानिदेशक बनाया गया है.

नीना सिंह
भारतीय पुलिस सेवा की अधिकारी नीना सिंह अब राजस्थान में हयूमन राइट्स एंड एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग के महानिदेशक के रूप में जिम्मेदारी निभाएंगी.

नीना अब हयूमन राइट्स एंड एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग के महानिदेशक के रूप में जिम्मेदारी निभाएंगी. इससे पहले वह सीबीआई (संयुक्त निदेशक) में रह चुकी हैं जहां वह कई महत्वपूर्ण और हाई प्रोफाइल मामलों की जाँच में शामिल हुई थीं. सीबीआई में उनका लगभग 6 साल का करियर रहा. इससे पहले वह राजस्थान मे एएसपी से लेकर आईजी तक विभिन्न ओहदों पर रह चुकी हैं. 1992 में नीना सिंह की पहली तैनाती राजस्थान की राजधानी जयपुर के महिला थाने के एएसपी के रूप में हुई. इसके बाद नीना सिरोही और जयपुर में एसपी रहीं. बाद में वह अजमेर और जयपुर में महानिरीक्षक (आईजी) बनाई गईं. नीना सिंह को राष्ट्रपति का पुलिस पदक मिलाकर 6 विशिष्ट सम्मान मिल चुके हैं.

नीना सिंह
नीना सिंह अपने पति आईएएस अधिकारी रोहित कुमार सिंह के साथ

बिहार की राजधानी पटना में 11 जुलाई 1964 को पैदा हुई नीना ने पटना विमेंस कॉलेज (Patna Women college) से स्नातक किया. उन्होंने दिल्ली में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू JNU) से स्नातकोत्तर किया और साथ ही हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से भी पढ़ाई की है. उन्होंने 1989 में यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा पास की थी और उन्हें भारतीय पुलिस सेवा में 1989 बैच में मणिपुर कैडर मिला था. नीना की शादी राजस्थान कैडर के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी रोहित कुमार सिंह से हुई और इसी आधार पर उन्होंने अपना कैडर भी मणिपुर से बदलवाकर राजस्थान करवा लिया था. नीना के पति अभी केंद्र सरकार में प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली में हैं.