दिल्ली पुलिस से हटे आईपीएस बालाजी श्रीवास्तव बीपीआरएंडडी के महानिदेशक बने

61
आईपीएस अधिकारी बालाजी श्रीवास्तव

कुछ दिन के लिए दिल्ली पुलिस के प्रमुख का काम सम्भालने के बाद हटाये गये आईपीएस अधिकारी बालाजी श्रीवास्तव को पुलिस अनुसन्धान एवम विकास ब्यूरो (  बीपीआरएंडडी – BPRD ) की कमान सौंपी गई है. अब उनको महानिदेशक के स्केल पर भी तरक्की दे दी गई है. श्री बालाजी भारतीय पुलिस सेवा के 1988 बैच के एजीएमयूटी कैडर के अधिकारी हैं.

बालाजी श्रीवास्तव अभी तक दिल्ली पुलिस के कमिश्नर थे और एसएन श्रीवास्तव के रिटायर होने पर उनको दिल्ली पुलिस के कमिश्नर के तौर पर अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया था. माना जा रहा था कि जिस तरह एसएन श्रीवास्तव  अतिरिक्त कार्यभार दिए जाने के तहत ही साल भर कमिश्नरी सम्भालते रहे वैसे ही बालाजी श्रीवास्तव भी दिल्ली पुलिस के प्रमुख बने रहेंगे. लेकिन कुछ ही दिन बाद पुलिस कमिश्नर के ओहदे पर गुजरात के आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना की दिल्ली पुलिस के आयुक्त पद पर अचानक हुई तैनाती सबके लिए हैरान कर देने वाली थी. तभी से समझा जा रहा था कि बालाजी श्रीवास्तव के लिए अब दिल्ली पुलिस में बने रहना संभव नहीं होगा.

गृह मंत्रालय का आदेश :

दिल्ली पुलिस की कमान वापस लेने के बाद राजधानी की पुलिस से हटाते समय आईपीएस बालाजी श्रीवास्तव को तरक्की भी देने के तौर पर एक सम्मानजनक राहत भी दी गई है. गृह मंत्रालय की तरफ से कल 25 अगस्त 2021 को आईपीएस बालाजी श्रीवास्तव की नई नियुक्ति के आदेश जारी किये हैं. इसमें कैबिनेट की नियुक्ति समिति के फैसले का हवाला देते हुए उनको बीपीआरएंडडी का महानिदेशक बनाया गया है.आदेश में कहा गया है कि उन्हें लेवल 16  का वेतनमान दिया जाएगा. बालाजी श्रीवास्तव की ये नियुक्ति, इस सम्बन्ध में कोई अन्य आदेश न आने तक ,  31 मार्च 2024 तक के लिए की गई है जोकि उनके रिटायरमेंट की तारीख है.

कुछ दिन की कुर्सी :

उल्लेखनीय है कि आईपीएस अधिकारी एसएन श्रीवास्तव को जब आईपीएस अमूल्य पटनायक की जगह दिल्ली पुलिस का कमिश्नर बनाया गया था तब उनको भी कई महीनों तक पुलिस कमिश्नर की कुर्सी एक अतिरिक्त कार्यभार के तौर भी ही दिये रखी गई थी. रिटायरमेंट की तारीख नजदीक आते ही उनको पूर्ण रूपेण पुलिस कमिश्नर बनाते हुए महानिदेशक बनाए जाने का निर्णय लिया गया. इसके अलावा उनकी जगह किसी और को कमिश्नर बनाये जाने का फैसला घोषित न किये जाने के कारण ये भी समझा जा रहा था कि वे कुछ अरसा और कमिश्नर बने रहेंगे लेकिन उनकी  सेवा में कोई सेवा विस्तार नहीं किया गया.  कुछ दिन के लिए बालाजी श्रीवास्तव को काम चलाऊ कमिश्नर बनाया गया और फिर रिटायरमेंट से मात्र 4 दिन पहले गुजरात कैडर के 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना को दिल्ली के पुलिस कमिश्नर की कुर्सी सौंप दी गई.