एक बीमार बुज़ुर्ग को अपने हाथ से खाना खिलाते पुलिस वाले को देख भर आईं लोगों की आंखें

2632
पुडुचेरी पुलिस का मानवीय चेहरा
यह वही बीट आफिसर कदाली मधुसूदन राव हैं जो शनिवार शाम पुडुचेरी के यनम इलाके में किसी अनजान और तकलीफ से घिरी महिला को अपने हाथों से भोजन करा रहे हैं.

पुडुचेरी के यनम इलाके में कल शाम इस नज़ारे को देखकर लोग भावुक हो उठे थे. कई लोगों को तो यकीन ही नहीं हो रहा था कि वर्दीधारी ये बीट आफिसर अपने परिवार की किसी बुजुर्ग को नहीं, किसी अनजान और तकलीफ से घिरी महिला को अपने हाथों से भोजन खिला रहा है. आज ये तस्वीर पुडुचेरी के हर छोटे बड़े अफसर के मोबाइल फ़ोन तक पहुँच गई है. इस संवेदनशील और बेहद मानवीय वाकये का पता जब किरण बेदी को चला तो उन्होंने इस बीट आफिसर का नाम जानना चाहा तो उसने अपना नाम और पूरा परिचय दिया. उस आफिसर का नाम कदाली मधुसूदन राव है. उसने किरण बेदी को धन्यवाद भी दिया है.

रक्षक न्यूज़ डाट इन (rakshaknews.in) से, मानवता और परोपकार की ये कहानी खुद पुडुचेरी की उपराज्यपाल और देश की पहली महिला आईपीएस अधिकारी डा. किरण बेदी ने साझा की है.

शनिवार की रात आठ बजे के आसपास का वक्त था जब यनम में समुद्र किनारे वाले क्षेत्र में किरायदारों के बारे में सूचना इकठ्ठा करने के लिए पुलिस का ये बीट आफिसर गया हुआ था. तभी इसे कॉल मिली कि राजीव गांधी बीच पर जीज़स मूर्ति के पास फुटपाथ पर करीब 70 साल की महिला पड़ी हुई है. पुलिसकर्मी फटाफट वहां पहुंचा तो पता चला कि बुजुर्ग होशोहवास में तो है लेकिन बेहद तकलीफ में है.

दरअसल ये महिला गिर गई थी जिससे इनके दाहिने हाथ में चोट लग गई थी. ये इलाज करने के लिए यनम के सरकारी अस्पताल आई थीं जहां इन्हें बताया गया कि इलाज का परचा सुबह मिलेगा. बुजुर्ग के हाथ में बहुत दर्द हो रहा था और वो भूखी भी थीं. ये जानकर पुलिसकर्मी पास से ही खाना खरीद कर लाया लेकिन बुज़ुर्ग का हाथ नहीं चल रहा था. तब इस बीट अधिकारी ने वहीँ फुटपाथ पर बैठकर अपने हाथों से उन्हें खाना खिलाया और बदले में खूब सारी दुआएं बटोरी.

इंसानियत का फर्ज़ पूरा करते इस घटना का ब्योरा बीट अधिकारी ने उस व्हाट्स ऐप ग्रुप पर शेयर किया जिसमें पुलिस के कई अफसरों के अलावा किरण बेदी भी मेम्बर हैं. इसके बाद से पुलिस का ये जवान चर्चा का विषय बना हुआ है.