शादी के 17 महीने बाद युवा IPS अफसर सुरेंद्र कुमार दास ने जहर खाया, हालत गंभीर

1888
IPS अफसर सुरेंद्र कुमार दास
कानपुर में एसपी ईस्ट के पद पर तैनात IPS अफसर सुरेंद्र कुमार दास.

कानपुर में तैनात IPS अफसर सुरेंद्र कुमार दास (एसपी ईस्ट) ने पारिवारिक कलह से ऊबकर मंगलवार रात जहरीला पदार्थ खा लिया. उन्हें रीजेंसी हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है. हालत काफी नाजुक होने की वजह से उनको वेंटीलेटर पर रखा गया है. सुरेंद्र दास एक महीने पहले तीन अगस्त को अंबेडकर नगर से ट्रांसफर होकर कानपुर आए थे. लेकिन एक महीने के अंदर उनकी ‘जिंदगी’ में न जाने ऐसी क्या खलबली मची कि इतना इंटेलिजेंट अफसर जिसने सिविल सर्विस क्लियर की हो, ऐसा कदम उठा लिया. अहम सवाल है कि जो आईपीएस अफसर कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिये जवाबदेह हो, लोगों की समस्याओं को समझने और उन्हें दूर करने का जिम्मेदार हो वह अपनी समस्या में इस कदर उलझा कि अपनी जिंदगी दांव पर लगा दी.

फोरेंसिक टीम ने देर शाम उनके कैंट स्ठित सरकारी बंगले की जांच की. एसपी पश्चिम संजीव सुमन ने बताया कि घर से कागज के टुकडे बरामद हुए हैं. इन्हें मिलाकर देखा गया तो सुसाइड नोट निकला. पत्नी को संबोधित नोट में ‘मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ, माफ करना’ लिखा है. सुरेंद्र बलिया के भरौली गांव के रहने वाले हैं. उनके शरीर में जहर की पुष्टि हुई है.

IPS अफसर सुरेंद्र कुमार दास
IPS अफसर सुरेंद्र कुमार दास की पत्नी डा. रवीना हास्पिटल से निकलती हुई.

2014 बैच के आईपीएस अधिकारी सुरेंद्र दास की 9 अप्रैल 2017 को डॉ. रवीना से शादी हुई थी. रवीना के पिता रमेंद्र सिंह ईएसआई के एडिशनल डायरेक्टर हैं, रवीना उनकी एकलौती बेटी है. रवीना जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज कानपुर से एमडी कर रही हैं. सुरेंद्र ने आईआईटी खडगपुर से इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में बीटेक किया है. दोनों साथ ही रहते हैं. आईपीएस सुरेंद्र की हालत की खबर पाकर रीजेंसी हॉस्पिटल पहुंची उनकी मां बदहवास हो गईं. एसएसपी अनंत देव अपनी छुट्टी कैंसिल कर दिल्ली से शहर पहुंच गए हैं. कई बड़े पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी उनका हाल जानने के लिए हॉस्पिटल पहुंचे. इस बीच सुरेंद्र को बचाने के लिये मुम्बई से देर रात करीब एक बजे तीन डाक्टरों की टीम रीजेंसी पहुंच गई थी.

IPS अफसर सुरेंद्र कुमार दास
IPS अफसर सुरेंद्र कुमार दास अपनी पत्नी डा. रवीना के साथ. (फाइल फोटो)

रीजेंसी हॉस्पिटल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी राजेश अग्रवाल ने बताया कि दास की हालत और बिगड़ी गई है उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है. फिलहाल लखनऊ से उनके परिजन भी पहुंच चुके हैं. सुरेंद्र दास की पत्नी डॉ. रवीना पूरे दिन हॉस्पिटल में रहीं. शाम को करीब चार बजे वह हॉस्पिटल से निकलीं तो बिलख-बिलखकर रो रही थीं. आईपीएस सुरेंद्र दास के बैच के ऑफिसर्स का कहना है कि वो बेहद भावुक हैं. शायद इसी वजह से उन्होंने किसी बात से परेशान होकर यह कदम उठाया है.

IPS अफसर सुरेंद्र कुमार दास
रीजेंसी हास्पिटल का बुलेटिन.

एडीजी अविनाश चंद्र, मंडलायुक्त सुभाष चंद्र शर्मा समेत कई आलाधिकारी उनकी तबियत पूछने अस्पताल पहुंचे. जहां डॉक्टरों ने 48 घंटे बाद ही सही स्थित बताए जाने की बात कही. रीजेंसी में मौजूद डॉक्टर पत्नी, सास-ससुर व परिजन उनके जीवन रक्षा की कामनाएं करते रहे. पहले पुलिस अधिकारी उनकी तबियत बिगडऩे की वजह बताने से बचते रहे. पुलिस सूत्रों के मुताबिक पारिवारिक कलह के चलते श्री दास ने यह कदम उठाया है. घटना वाली रात वह काफी परेशान थे. सुबह उल्टी होने पर उन्हें उर्सला ले गए. जहां कोई सीनियर डॉक्टर न होने पर पास ही स्थित एक निजी नर्सिंग होम ले जाया गया, लेकिन बाद में अधिकारियों के कहने पर रीजेंसी में भर्ती कराया गया.