पाकिस्तान के खिलाफ बड़ी कार्रवाई पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह-कुछ बड़ा हुआ है, बताऊंगा नहीं

598
राजनाथ सिंह
उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फर नगर में शहीद भगत सिंह की प्रतिमा के अनावरण समारोह में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने खोला राज.

भारतीय सुरक्षा बलों की तरफ से पाकिस्तान के खिलाफ की गई किस बड़ी जवाबी कार्रवाई का संकेत देते हुए भारत के केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा “शायद आप लोगों ने देखा होगा कुछ … कुछ हुआ है… मैं बताऊंगा नहीं …क्योंकि बताया भी नहीं … हुआ है ! ..ठीक ठाक हुआ है …विश्वास रखना बहुत ठीक ठाक हुआ है दो तीन दिन पहले.”

भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फर नगर में शहीद भगत सिंह की प्रतिमा के अनावरण समारोह में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंच से जनता को सम्बोधित करते हुए ये बात उस वक्त कहीं जब वो पाकिस्तान से सटे रामगढ़ सेक्टर की सीमा पर दस दिन पहले सीमा सुरक्षा बल (BSF) के हवलदार नरेंद्र सिंह की मृत्यु से जुड़ी घटना का ज़िक्र कर रहे थे.

राजनाथ सिंह ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, ‘ मालूम होगा कुछ लोगों को यहाँ …(फिर मंच पर उपस्थित कुछ लोगों की तरफ देखते हुए पूछा)…मालूम होगा ? (तभी किसी ने उत्तर में कहा – मालूम है)

लगता था केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह बताने के लिए विचलित थे लेकिन किसी कारणवश खुल कर कह नहीं पा रहे थे. अपनी बात जारी रखते हुए वो बोले, ” …और आगे भी देखिएगा क्या क्या होगा”. उन्होंने इशारों ही इशारों में ये ज़ाहिर करने की कोशिश की कि पाकिस्तान से, बीएसएफ के हेड कांस्टेबल नरेंद्र की मौत का बदला ले लिया गया है. वो बोले, ‘ मैंने बार्डर सिक्युरिटी फ़ोर्स के जवानों को कहा था – पड़ोसी है, पहली गोली मत चलाना …एक भी यदि अगर वहां से चल जाती है, तो अपनी गोलियां फिर गिनना मत…. कि कितनी हमारी गोलियां चलीं”.

ध्यान देने की बात ये भी है कि राजनाथ सिंह से पहले कुछ ऐसा ही, सीमा सुरक्षा बल से रिटायर हो रहे महानिदेशक केके शर्मा ने दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा था. उनका कहना था कि पाकिस्तान को सही जवाब दिया गया है.

आईपीएस के के शर्मा ने उन हालात का ज़िक्र करते हुए कहा था कि हेड कांस्टेबल नरेंद्र को तीन गोली लगी थीं और उनकी गर्दन पर तेज़ धार वाले ज़ख्म थे जिससे बहुत ज्यादा रक्तस्राव हुआ था. उन्होंने शव के टुकड़े करने वाली सूचनाओं को गलत बताया.