आसमान में 20 हजार फुट ऊंचाई पर तेजस विमान में भरा ईंधन

694
तेजस
तेजस (LCA Tejas) में सोमवार को पहली बार उस वक्त ईंधन भरा गया जब ये आसमान में 20 हजार फुट की ऊँचाई पर परवाज़ भर रहा था. Photo/DRDO

भारत में डिजाइन और विकसित किये हल्के लड़ाकू विमान तेजस (LCA Tejas) में सोमवार को पहली बार उस वक्त ईंधन भरा गया जब ये आसमान में 20 हजार फुट की ऊँचाई पर परवाज़ भर रहा था. एक हफ्ते के भीतर, तेजस में ईंधन भरने का ये तीसरा कामयाब ट्रायल था. हालांकि इससे पहले वाले दोनों ट्रायल में (4 ,6 सितम्बर को), टैंकर से तेजस में ईंधन भरने की महज़ कनेक्शन प्रक्रिया ही पूरी की गई थी. वैसे परिचालन की अनुमति की अंतिम मंजूरी दिशा में तेजस की इस कामयाबी को एक अहम कदम के तौर पर देखा जा रहा है. वैसे इस तरह के और ट्रायल बाकी हैं.

विमान में उड़ान के दौरान ही ईंधन भरने की क्षमता का मतलब है कि उसे लगातार और ज़्यादा देर तक आसमान में उड़ाए रखा जा सकता है यानि देर तक दुश्मन से लड़ने के लिए आसमानी मोर्चे पर डटे रहने की ताकत में कई गुना इज़ाफा.

10 सितम्बर 2018 को तेजस में उड़ते वक्त जब 1900 किलो ईंधन भरा गया तब उसे भारतीय वायुसेना के, लड़ाकू विमान की टेस्ट फ्लाई के माहिर विंग कमांडर सिद्धार्थ सिंह चला रहे थे. उस वक्त 8वीं सीरीज़ के लड़ाकू तेजस (Tejas LSP 8) की रफ्तार 270 नाट्स (270 Knots) थी और इस दौरान ही इसके तमाम टैंक ईंधन से भरे गये. ईंधन भरने की प्रक्रिया के दौर विभिन्न मानदंडों के पालन किये जाने के स्तर और इसकी बारीकियों पर एयरोनॉटिकल डेवेलपमेंट एजेंसी के ग्वालियर स्टेशन स्थित नियन्त्रण कक्ष पर जानकारियाँ ली जा रहीं थी और प्रक्रिया पर की निगरानी भी की जा रही थी. बताया गया कि ये प्रक्रिया उन मानदंडों पर खरी उतरी है जो मानदंड मैदानी प्रक्रिया के दौरान तय हुये थे.

हिन्दुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड (HAL) के मुख्य प्रबन्ध निदेशक आर. माधवन ने तेजस में ईंधन भरे जाने की कामयाबी का जिक्र करते हए कहा कि अब भारत उन चंद खास देशों के समूह का हिस्सा बन गया है जिन्होंने सैन्य विमानों में, आसमान में ईंधन भरने की व्यवस्था विकसित की है.

भारत की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने तेजस के विकास के सफर में मिली इस कामयाबी पर हिन्दुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड (HAL), एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (ADA), रक्षा अनुसन्धान विकास संगठन (DRDO), भारतीय वायुसेना और तमाम सम्बद्ध एजेंसियों को शुभकामनाएं दी हैं.