सैल्यूट भारतीय नौसेना… चक्रवात में फंसे मोजांबिक के 192 लोगों को बचाया

608
भारतीय नौसेना
मोजांबिक में भारतीय नौसेना द्वारा बचाए गए लोग.

भारतीय नौसेना सिर्फ सीमा की ही सुरक्षा के लिए तट पर नहीं रहती विदेशों में भी अपने जीवनदायी जौहर दिखाती है और देश का गौरव तथा मान दुनिया में बढाती है. चक्रवात प्रभावित मोजांबिक में भारतीय नौसेना के जवान भगवान बन गए. राहत अभियान के तहत भारतीय नौसेना ने 192 से ज्यादा लोगों की न केवल जान बचाई, बल्कि अपने चिकित्सकीय शिविरों में 1,381 लोगों की मदद भी की.

भारतीय नौसेना
मोजांबिक में भारतीय नौसेना ने ऐसे बचाया लोगों को.

विदेश मंत्रालय के अनुसार, मोजांबिक के आग्रह पर भारत ने तत्काल कार्रवाई करते हुए भारतीय नौसेना के तीन जहाजों को बीरा बंदरगाह भेजा. आईएनएस सुजाता, आईसीजीएस सारथी और आईएनएस शार्दुल जहाज पर तैनात जवान स्थानीय अधिकारियों और मापुटो में भारतीय उच्चायुक्त के साथ समन्वय से पिछले कई दिनों से राहत व बचाव कार्य कर रहे हैं.

भारत का चेतक हेलीकाप्टर आपदा प्रभावित इलाके के हवाई सर्वे तथा पीडि़तों तक मदद पहुंचाने में लगा हुआ है. राहत सामग्री से लदे एक और जहाज आईएनएस मगर को मोजांबिक भेजा जा रहा है.

गौरतलब है कि चक्रवात ‘ईडाई’ ने पूर्वी और दक्षिणी अफ्रीका में 15 मार्च को दस्तक दी थी. इससे मोजांबिक, जिंबाब्वे और मलावी में बड़े पैमाने पर जान-माल का नुकसान हुआ है. चक्रवात के बाद भारतीय नौसेना ने पहली प्रतिक्रिया देते हुए राहत व बचाव के लिए तत्परता दिखाई.