राजनाथ सिंह ने मशीनगन चलाई, 24 घंटे समुद्र में आईएनएस विक्रमादित्य पर रहे

118
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने विशाल युद्धपोत आईएनएस विक्रमादित्य पर लगाई गई मशीनगन से फायरिंग भी की.

भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय नौसेना के विमान वाहक शक्तिशाली और विशाल युद्धपोत आईएनएस विक्रमादित्य पर एक रात गुज़ारी और इस दौरान वहां की तमाम गतिविधियों को देखा और बारीकी से समझा. यही नहीं उन्होंने जहाज़ पर लगाई गई मशीनगन से फायरिंग भी की. अधिकारियों और जवानों से उन्होंने बातचीत की और वादा किया कि उनके परिवार वालों को पत्र भेजकर शुक्रिया अदा करेंगे जिसमें उनकी विक्रमादित्य पर उनकी तैनाती और काम के बारे में लिखा जाएगा.

शनिवार की रात आईएनएस पर गुज़ारने के बाद रक्षामंत्री ने गोवा के तट पर भारतीय नौसेना के जवानों और अधिकारियों को सम्बोधित किया. भारत में बनाये गए हल्के लड़ाकू विमान तेजस में पहले रक्षामंत्री के तौर पर उड़ान भरने के बाद राजनाथ सिंह आईएनएस विक्रमादित्य पर भी रात गुजारने वाले पहले रक्षामंत्री हैं.

उन्होंने इस जहाज़ के उन तमाम परिचालनों को गौर से देखा जिस पर जेट फाइटर मिग 29 भी तैनात हैं. राजनाथ सिंह ने भारतीय नौसेना की क्षमताओ, संसाधनों और काम की तारीफ़ करते हुए कहा कि इंडियन नेवी किसी भी मैरी टाइम चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है. उन्होंने कहा, देश की सुरक्षा इस बात पर निर्भर करती है कि हम समुद्र में कितने शक्तिशाली हैं.”

राजनाथ सिंह ने पनडुब्बियों, फ्रिगेट्स और वाहक समेत कई सैन्य अभ्यास देखे. नौसेना की पश्चिमी कमान की तारीफ करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कश्मीर में फरवरी में पुलवामा हमले के बाद बालाकोट में जब भारत ने आतंकवादियों के कैम्प तबाह किये थे तब उत्तरी अरब सागर में जिस तरह पश्चिमी कमान ने अपनी तैनाती को तगड़ा किया था उसके बाद हमारा मुख्य प्रतिद्वंद्वी समुद्र में कोई हिमाकत करने की हिम्मत नहीं कर सका.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here