सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा महानिदेशालय का पहला सम्मेलन

936
सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा
सम्मेलन में रक्षा चिकित्सा सेवा से जुड़े 34 पूर्व अधिकारी और मौजूदा वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया.

भारतीय सेना से जुड़ी चिकित्सा सेवाओं पर सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा महानिदेशालय का पहला सम्मेलन शनिवार को आयोजित किया गया जिसका मुख्य उद्देश्य सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा के समक्ष मौजूदा चुनौतियों से निपटने के उपायों तथा चिकित्सा सेवा से जुड़े सैन्य अधिकारियों के अनुभवों का लाभ लेने के तरीकों का पता लगाना था. इस सम्मेलन में रक्षा चिकित्सा सेवा से जुड़े 34 पूर्व अधिकारी और मौजूदा वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया.

रक्षा मंत्रालय की एक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक़ वरिष्ठ कर्नल कमांडेंट एएमसी लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन पुरी ने सम्मेलन में आये प्रतिनिधियों का स्वागत किया और सेना चिकित्सा कोर की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला.

सेना की चिकित्सा सेवा इकाई का 250 वर्षों से भी ज्यादा पुराना गौरवशाली इतिहास रहा है. इसने न सिर्फ सेना को अहम् चिकित्साा सेवाएं मुहैया कराई हैं, बल्कि गुणवत्तायुक्त स्वास्थ्य सेवाओं में भी आगे रहा है.

सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा
भारतीय सेना से जुड़ी चिकित्सा सेवाओं पर सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा महानिदेशालय का पहला सम्मेलन शनिवार को नई दिल्ली के मानेकशा सेंटर में शुरु हुआ.