‘मालाबार 2020’ का दूसरा चरण उत्तरी अरब सागर में

23
मालाबार 2020
मालाबार 2020 (PIB)

भारत, अमेरिका, जापान और आस्ट्रेलिया की नौसेनाओं के संयुक्त युद्ध अभ्यास ‘मालाबार 2020’ का दूसरा चरण आज  (17 नवम्बर) से उत्तरी अरब सागर में शुरू हो रहा है और ये 20 नवम्बर तक चलेगा. इससे पहले ‘मालाबार 2020’ का पहला चरण 3 से 6 नवम्बर तक बंगाल की खाड़ी में आयोजित किया गया था. पहले चरण के अभ्या स से अर्जित तालमेल को आगे बढ़ाते हुए इस चरण में ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और संयुक्त राज्य अमेरिका की नौसेनाओं के बीच बढ़ती जटिलता के समन्वित संचालनों को शामिल किया जाएगा.

ये मालाबार का 24वां संस्करण चल रहा है, जिसमें समुद्री मुद्दों पर चार जीवंत लोकतंत्रों के बीच विचारों की समग्रता पर प्रकाश डाला जा रहा है और एक खुले, समावेशी भारत-प्रशांत तथा कानून आधारित अंतर्राष्ट्रीय आदेश के प्रति इनकी प्रतिबद्धता को दर्शाया गया है.

मालाबार 2020
मालाबार 2020 (PIB)

मालाबार 2020 अभ्यास के दूसरे चरण में भारतीय नौसेना (Indian Navy) के विक्रमादित्य कैरियर बैटल समूह और अमेरिका की नौसेना के निमित्ज कैरियर स्ट्राइक समूह के आसपास केंद्रित संयुक्त परिचालन आयोजित किए जाएंगे. इस अभ्याास में हिस्सा लेने वाली नौसेनाओं के अन्य जहाजों, पनडुब्बी और हवाई जहाजों के साथ ये युद्धपोत चार दिन तक उच्च तीव्रता वाले नौसैनिक अभियानों में शामिल रहेंगे. इन अभ्यासों में विक्रमादित्य के मिग 29 लड़ाकू विमानों तथा निमित्जि के एफ-18 फाइटर लड़ाकू और ई 2सी हॉकआई द्वारा क्रॉसडेक उड़ान परिचालन और उन्नेत वायु रक्षा अभ्यास शामिल हैं. इसके अलावा चार मित्र नौसेनाओं के बीच अंतर-संचालन और तालमेल बढ़ाने के लिए, उन्नत सतह और पनडुब्बीरोधी युद्ध अभ्यास, सिमैनशिप कार्मिक विकास और हथियारों से फायरिंग भी की जाएगी.

मालाबार 2020
मालाबार 2020 (PIB)

इसके अलावा, विक्रमादित्य और इसके लड़ाकू विमान तथा हेलीकॉप्टर एयर-विंग्स, स्वदेशी विध्वंसक कोलकाता और चेन्नई के सा‍थ-साथ, स्टील्थ फ्रिगेट तलवार, फ्लीट सपोर्ट जहाज दीपक और इंटीग्रल हेलीकॉप्टर भी इस अभ्यास में शामिल होंगे. इस अभ्यास की अगुआई पश्चिमी बड़े फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग रियर एडमिरल कृष्ण स्वामीनाथन कर रहे हैं. भारत में बनी पनडुब्बी खंडेरी और भारतीय नौसेना के पी81 समुद्री टोही विमान भी इस अभ्यास के दौरान अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन करेंगे.

अमेरिकी नौसेना की स्ट्राइक कैरियर निमित्ज में पी8ए समुद्री टोही विमान के अलावा क्रूजर प्रिंसटन और विध्वंसक स्टेरेट होंगे. रॉयल ऑस्ट्रेलियन नेवी का प्रतिनिधित्व इंटेग्रल हेलीकॉप्टर के साथ-साथ बैलरेट द्वारा किया जाएगा. जेएमएसडीएफ भी इस अभ्यास में शामिल होंगे.

युद्ध अभ्यास की मालाबार श्रृंखला, भारत और अमेरिका के बीच एक वार्षिक द्विपक्षीय नौसैनिक अभ्यास के रूप में 1992 में शुरू की गई थी. इन वर्षों के दौरान इसका दायरा और जटिलता लगातार बढ़ी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here