आईपीएस ऋषि कुमार शुक्ला केन्द्रीय जांच ब्यूरो के निदेशक बनाए गए

664
ऋषि कुमार शुक्ला
1983 बैच के आईपीएस अधिकारी ऋषि कुमार शुक्ला CBI के नए निदेशक बनाए गए हैं.

भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी ऋषि कुमार शुक्ला को केन्द्रीय जांच ब्यूरो का निदेशक बनाया गया है. श्री शुक्ला भारतीय पुलिस सेवा के मध्य प्रदेश कैडर के 1983 बैच के अधिकारी हैं. आईपीएस अधिकारी शुक्ला दो साल तक के लिए भारत की इस सबसे बड़ी जांच एजेंसी के डायरेक्टर रहेंगे.

ऋषि कुमार शुक्ला अगस्त 2020 में रिटायर होने वाले थे लेकिन अब वह फरवरी 2021 तक सीबीआई के प्रमुख रहेंगे. उनके ससुर डीपी खन्ना भी मध्य प्रदेश पुलिस के महानिदेशक रहे हैं. अभी कुछ महीने पहले हुए मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान उन्हें कार्डियक अटैक पडा था जिसके बाद उन्होंने मुम्बई में बाईपास सर्जरी कराई थी. उन्हें 29 जनवरी को ही पुलिस महानिदेशक पद से हटाकर मध्य प्रदेश पुलिस हाउसिंग कारपोरेशन का चेयरमैन बनाया गया था.

ऋषि कुमार शुक्ला को केन्द्रीय जांच ब्यूरो का निदेशक बनाये जाने का फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली उच्च शक्ति प्राप्त चयन समिति ने आज किया. आलोक वर्मा को सीबीआई से हटाए जाने के सरकार फैसले और इस छिड़े रहे विवाद के बीच सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को आदेश दिया था कि एक निश्चित समय सीमा में सीबीआई के डायरेक्टर ओहदे के लिए अधिकारी के नाम का चुनाव करके नियुक्ति की जाए. शुक्रवार को भी सरकार की तरफ से पेश हुये अटॉर्नी जनरल के के वेणु गोपाल के जवाब से असंतुष्ट सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी ज़ाहिर की थी और कड़ा रुख अपनाते हुए, सीबीआई के नये निदेशक की फ़ौरन तैनाती का आदेश दिया था.

सीबीआई में अपने ही मातहत स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना से झगड़े से उपजे विवाद के दौरान अक्टूबर में मुख्य सतर्कता आयोग की रिपोर्ट के बाद अक्टूबर में आलोक वर्मा और अस्थाना को जबरन छुट्टी पर भेज दिया गया था. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आलोक वर्मा को फिर से सीबीआई का डायरेक्टर बनाया तो गया लेकिन इसके फ़ौरन बाद उनका तबादला कर दिया गया था लेकिन आलोक वर्मा ने नई नियुक्ति को कबूल नहीं किया था. इस पर केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने उन्हें नोटिस भी भेजा.