फारेस्ट एडवेंचर रन के प्रतिभागियों ने जब सर्दी को पछाड़ गरमाया माहौल

110
विजेताओं को रक्षक वर्ल्ड फाउंडेशन की तरफ से पुरस्कार और ट्राफी देकर सम्मानित किया गया.

तड़के की जबरदस्त सर्दी और कोहरे के बावजूद रविवार की सुबह गाज़ियाबाद में हिंडन नदी के किनारे सिटी फारेस्ट में फिटनेस, रोमांच, म्यूज़िक और मस्ती ने माहौल ऐसा गर्म कर डाला कि यहाँ फारेस्ट एडवेंचर रन में हिस्सा लेने आये लोगों को देखकर तो लग ही नहीं रहा थे कि ये दिसम्बर का महीना है. 14 साल के बच्चों से लेकर 60 व्रर्ष तक के लोगों के लिए आयोजित इस फिटनेस मुकाबले में महिलाओं ने भी बढ़चढ़कर हिस्सा लिया. फिट इण्डिया अभियान से प्रेरित इस अनूठे मुकाबले के दौरान प्रतिभागियों ने वन क्षेत्र के अधकच्चे रास्ते पर तीन किलोमीटर की न सिर्फ दौड़ लगाई बल्कि रोमांच और चुनौतियों से भरपूर बाधाएं भी पार कीं.

दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में पहली बार आयोजित इस अनूठे मुकाबले का आयोजन रक्षक वर्ल्ड फाउंडेशन ने किया जो सेना, पुलिस जैसे वर्दीधारी संगठनों से सम्बन्धित जानकारियाँ और समाचार देने वाले वाले बहुभाषी डिजिटल मीडिया प्लेफार्म रक्षक न्यूज़ डॉट इन का संचालन भी करती है. फारेस्ट एडवेंचर रन में सभी वर्गों के लोगों ने हिस्सा लिया. मुकाबला बेशक गाज़ियाबाद में था लेकिन इसमें हिस्सा लेने के लिए लोग दिल्ली के आखिरी कोने नांगलोई से लेकर मेरठ से भी आये थे.

जाने माने हार्ट सर्जन पद्मश्री डॉक्टर पुरषोत्तम लाल ने दौड़ को फ्लैग ऑफ़ किया.

कुल मिलाकर 4 श्रेणियों में विभाजित किये गये इस फिटनेस मुकाबले में 40 से 60 वर्ष की महिलाओं वाली एकमात्र श्रेणी ऐसी रही जिसमें विजेता घोषित नहीं किया जा सका. मुकाबला जीतने के नियमों के मुताबिक़ हर धावक को रफ्तार के साथ साथ सभी बाधाएं भी पार करनी थी. एक भी बाधा पार करने में नाकाम होने पर प्रतिभागी को पहले तीन नम्बर के मुकाबले से डिस्क्वालिफाई कर दिया जाता था. इस श्रेणी में ऐसी एक भी महिला प्रतिभागी नहीं थी जिसने स्पीड के साथ सभी बाधा सफलतापूर्वक पार की हों.

जाने माने हार्ट सर्जन पद्मश्री डॉक्टर पुरषोत्तम लाल आयोजन के मुख्य अतिथि थे और उन्होंने दौड़ को फ्लैग ऑफ़ किया. कार्यक्रम की शुरुआत में ही मिसाकी क्लासेज की मशहूर जुम्बा ट्रेनर काजल गुप्ता और उनकी टीम ने प्रतिभागियों को शानदार और जानदार तरीके सी नचवाकर महल में गर्मी पैदा कर डाली. रक्षक वर्ल्ड फाउंडेशन के अध्यक्ष संजय वोहरा ने इस अनूठे फिटनेस मुकाबले और फाउंडेशन के बारे में जानकारी देते हुए कहा की हमारा शरीर ही हमारा सबसे पहला और स्थाई घर होता है इसलिये शरीर को स्वस्थ रखना हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए.

विजेताओं को रक्षक वर्ल्ड फाउंडेशन की तरफ से महासचिव संदीप डावर, उपाध्यक्ष अर्चना महाजन व कोषाध्यक्ष यादवी ने पुरस्कार और ट्राफी देकर सम्मानित किया गया जबकि उम्मीद उपवन फाउंडेशन की तरफ से, यहाँ आये अनुजा और आशीष व दिया ने पौधे बांटकर शरीर की सेहत के साथ साथ पर्यावरण की सुरक्षा का संदेश दिया.

सिटी फारेस्ट रन में आये ज्यदातर लोगों को 150 एकड़ क्षेत्र में फैले इस खूबसूरत वन क्षेत्र के बारे में इल्म ही नहीं था. इससे पहले इस तरह का मुकाबला कभी हुआ ही नहीं. राष्ट्रीय रोलर स्केटिंग में कांस्य पदक विजेता दीपांशु गौतम समेत कई पेशेवर और शौकिया एथलीट ने भी हिस्सा लिया. इंदिरापुरम के एक्स फिट जिम ने विजेताओं के लिए तीन माह की मुफ्त सदस्यता भी दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here