दिल्ली पुलिस ने भी किया टेबल टेनिस की ‘गोल्डन गर्ल’ को सम्मानित

456
मनिका बत्रा
राष्ट्रकुल खेलों में टेबल टेनिस की गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा को दिल्ली पुलिस के पश्चिमी जिले के उपायुक्त कार्यालय में डी सी पी विजय कुमार ने सम्मानित किया.

राष्ट्रकुल खेलों में टेबल टेनिस सनसनी बनी मनिका बत्रा को दिल्ली पुलिस के पश्चिमी जिले के उपायुक्त कार्यालय में जब सम्मानित किया जा रहा था तब वहां के डीसीपी (DCP-पुलिस उपायुक्त) विजय कुमार भावुक हो गये. उन्होंने कहा कि आज हम मनिका को सम्मानित करते हुए हमें बेहद खुशी और गौरव का अनुभव हो रहा है.

आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हाल ही में सम्पन्न हुए 21वें राष्ट्रमंडल खेल में एकल और टीम वर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर लौटी 22 साल की मनिका के लिये डीसीपी ने कहा कि उनकी सफलता से हमारी महिला स्टाफ का हौसला इस मायने में बढेगा कि हमें भी अपनी ड्यूटी निभाते वक्त अपना शत-प्रतिशत योगदान देना चाहिये. उन्होंने भविष्य के टूर्नामेंट के लिये मनिका शुभकामनायें दीं. इस मौके पर मनिका के कोच संदीप गुप्ता का भी सम्मान किया गया.

इस मौके पर मनिका ने पुलिस में काम करने वाली महिलाओं से बातचीत की और जिस तरह के प्रेरणादायक वाक्य कहे, उस पर भी पुलिस उपायुक्त ने खासतौर से धन्यवाद देते हुए ट्वीट भी किया. श्री कुमार ने रक्षक न्यूज़ को बताया कि मनिका बत्रा नारायणा विहार में रहती हैं, जो उनके ज़िले के क्षेत्र में है, इसी नाते मनिका के लिए सोमवार को कार्यक्रम का आयोजन किया गया. मनिका ने महिला पुलिसकर्मियों की हौसला आफजाई की ताकि वो पुलिस सेवा में सौ फीसदी क्षमता से काम करें. ये कार्यक्रम राजौरी गार्डन में पुलिस उपायुक्त कार्यालय परिसर में किया गया था.

मनिका ने इस सादे और संक्षिप्त से समारोह के लिए दिल्ली पुलिस का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस ने गोल्डकोस्ट खेलों में चार मेडल जीतने पर जिस परम्परागत तरीके से मेरा और मेरे कोच संदीप गुप्ता का अभिनन्दन किया है, उसे मैं बड़ा सम्मान मानती हूँ. मनिका ने सोशल मीडिया पर वो तस्वीरें भी साझा की हैं जब वो कार्यक्रम में गई थीं .

भारत की नम्बर एक महिला खिलाड़ी मनिका का सपना है कि जिस तरह बैडमिंटन में सायना नेहवाल और पीवी सिंधु ने मुकाम हासिल किया है उसी तरह वह भी कामयाबी हासिल करना चाहती है. मनिका ने राष्ट्रमंडल खेलों में तीन बार ओलम्पिक पदक विजेता सिंगापुर की फेंग तिआनवेई और सिंगापुर की नंबर-2 मेंगयू यू को मात दी थी. मनिका विश्व रैंकिंग में इस समय 58वें नम्बर पर हैं.

मनिका ने 2011 में चिली ओपन में यू-21 वर्ग में रजत पदक जीतकर अपने करियर की शानदार शुरुआत की. 2014 के इंचियोन एशियाई खेलों और ग्लासगो राष्ट्रमंडल खेलों में वह क्वार्टर फाइनल में हार गईं थी जबकि रियो ओलम्पिक में उन्हें पहले ही दौर में हार मिली थी. मनिका ने 2016 दक्षिण एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था.

टेबल टेनिस पर फोकस करने के लिए जीसस एंड मेरी कॉलेज की पढ़ाई छोड़ चुकीं दिल्ली की मनिका ने 16 साल की उम्र में स्वीडन के पीटर कार्लसन अकादमी में प्रशिक्षण के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. यही नहीं, इस दौरान छह फुट एक इंच लम्बी मनिका को मॉडलिंग का भी ऑफर मिला था लेकिन वह इन सबसे दूर खुद को टेनिस को समर्पित करना चाहती थीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here