चर्चा में है पाकिस्तान का पहला हिन्दू पुलिस अफसर राजेन्द्र मेघवार

126
पाकिस्तान
राजेन्द्र मेघवार

पाकिस्तान में राजेन्द्र मेघवार नाम का एक नौजवान आजकल सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गया है. काफी लोग इनके बारे में जानना चाहते हैं और जो जानते हैं वो इनकी तस्वीरें शेयर कर रहे हैं. लेकिन इसी के साथ एक सिलसिला ऐसा भी शुरू हो गया जिसमें उन पाकिस्तानी नागरिक अधिकारियों के बारे में भी लोग चर्चा करने लगे हैं जो हिन्दू परिवारों में पैदा हुए युवक युवतियां हैं.

पाकिस्तान में बहुत से ऐसे लोग इसे एक ऐसे मुल्क के सिस्टम में आई उस सोच का परिणाम मान रहे हैं जो बना बेशक इस्लाम मज़हब के आधार पर है लेकिन उसकी कट्टरता कम हो रही है और अन्य धर्मों को मानने वालों की जगह भी बन रही है. दूसरी तरफ वर्दीधारी संगठनों सेना, पुलिस आदि से सम्बद्ध समुदाय इसे एक प्रोफेशनल नज़रिए से देखता है. उनका मानना है कि सिपाही किसी भी मज़हब या जाति का हो, उसकी पहली वफादारी अपने मुल्क और फर्ज़ के प्रति होती है.

पाकिस्तान
डॉ सना रामचंद

राजेन्द्र मेघवार पाकिस्तान की केंद्रीय वरिष्ठ सेवा (central superior service) का इम्तहान पास करके पाकिस्तान पुलिस सेवा (police service of pakistan) में अधिकारी बनने वाला पहला हिन्दू पाकिस्तानी नागरिक है. पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय का ये नौजवान राजेन्द्र मेघवार (rajender meghwar) उस समय भी चर्चा में आया था जब उसने सीएसएस का स्क्रीनिंग इम्तहान पास किया था.

राजेन्द्र मेघवार (rajender meghwar) का ताल्लुक सिंध के बदीन ज़िले के मलकान शरीफ़ नाम के एक दूरदराज़ के गांव से है. राजेन्द्र मेघवार की पाकिस्तान में पहली पोस्टिंग सहायक पुलिस अधीक्षक (एएसपी) के तौर पर हुई है. हालांकि उससे पहले सिंध प्रांत की ही पुष्पा कोहली भी पाकिस्तान की पुलिस फ़ोर्स में शामिल होने वाली पहली हिन्दू पाकिस्तानी नागरिक है लेकिन उनका रैंक सहायक सब इंस्पेक्टर (एएसआई – ASI) का है. राजेन्द्र मेघवार जिस पुलिस सर्विस ऑफ़ पाकिस्तान (PSP) का हिस्सा बने हैं वो वैसी ही सेवा है जैसी भारत में भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस – IPS) है.

पाकिस्तान
जीवन लाल

राजेन्द्र मेघवार के सोशल मीडिया में चर्चा बढ़ने के साथ साथ पाकिस्तान के ही एक अन्य नौजवान जीवन लाल के बारे में भी लोग ट्वीट करने लगे हैं. जीवनलाल नाम के शख्स भी सिंध के छाछरो गांव के रहने वाले हैं जो पीसीएस (पाकिस्तान सिविल सर्विसेज -PCS ) के अधिकारी बने हैं. कुछ लोग इस सबके बारे में पोस्ट करते हुए ये मान रहे हैं कि ये पाकिस्तान में जात-पात और कट्टरता के कारण बंटे समाज के लिए नया संदेश है.

इसी कड़ी में एक नाम डॉ सना रामचंद का भी जोड़ दिया गया है जो सीएसएस 2020 परीक्षा पास करके पिछले साल ही अधिकारी तैनात की गई थीं. उनका सिख पंथ के प्रति श्रद्धा का बहुत भाव है जो वे खुद अपने सोशल मीडिया हैंडल पर ज़ाहिर भी करती रहती हैं. डॉ सना रामचंद असिस्टेंट कमिश्नर बनाई गई थीं. सना रामचंद ब्लॉग भी लिखती हैं और एडवेंचरिस्ट भी हैं. सना रामचंद ऐसी पहली पाकिस्तानी हिन्दू हैं जो पाकिस्तान की केन्द्रीय वरिष्ठ सेवा पास करके अधिकारी बनी.