स्थापना दिवस पर बोले अमित शाह : दिल्ली पुलिस 25 साल का रोडमैप बनाए

316
दिल्ली पुलिस
दिल्ली पुलिस के स्थापना दिवस की स्मृति के तौर पर एक डाक टिकट भी जारी किया गया.

दिल्ली पुलिस ने पूरी शान के साथ बुधवार को अपना 75 वां स्थापना दिवस मनाया. इस मौके पर आयोजित परेड की सलामी लेने के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर आये भारत के केन्द्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह ने पुलिस अधिकारियों और जवानों को मेडल लगाए. उन्होंने दिल्ली पुलिस की जमकर तारीफ की और साथ ही भविष्य के लिए योजनाबद्ध तरीके से काम करने का टारगेट देकर भी गये. श्री शाह ने दिल्ली के रोहिणी पुलिस जिले के पुलिस परिसर में नवनिर्मित उपायुक्त कार्यालय (डीसीपी ऑफिस) भवन का उद्घाटन भी किया.

दिल्ली पुलिस
पुलिस कर्मियों को सम्मानित करते केन्द्रीय गृह अमित शाह.

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आठ दशकों में दिल्ली पुलिस ने कई ऊंचाई को छुआ है, मुश्किल समय में अपनी बहादुरी साबित की है और चुनौतियों को स्वीकार करते हुए खुद में बड़े बड़े बदलाव किये हैं. दूसरी तरफ गृह मंत्री ने पुलिस अधिकारियों के सामने अनगिनत कमियाँ भी गिना दीं. उन्होंने इस साल को दिल्ली पुलिस के लिए दो तरह के लक्ष्य तय करने का साल बताया. पहला-75 से 80 वें साल के बीच मामलों की जांच, अनुशासन, जवानों के स्वास्थ्य, कल्याण, आतंकवाद का सामना करने की चुनौतियों, नारकोटिक्स के धंधे पर नकेल कसने, साइबर चुनौतियों आदि जैसे तमाम क्षेत्रों में व्याप्त कमियों को दूर करना. दूसरा-दिल्ली पुलिस को तय करना है कि वो अपने शताब्दी वर्ष पर कैसा दिखना चाहेगी. अमित शाह ने कहा कि दिल्ली पुलिस को पांच साल के टारगेट तय करने होंगे और अगले समयबद्ध तरीके से अमल में लाये जाने वाली योजना के तौर पर 25 साल का रोडमैप बनाना होगा.

दिल्ली पुलिस
दिल्ली पुलिस के 75 वें स्थापना दिवस पर आयोजित परेड की सलामी लेते भारत के केन्द्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह

दिल्ली पुलिस में हाल ही में बनाए गये परसेप्शन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट (perception management department) और प्रशिक्षण निदेशालय का भी केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ज़िक्र किया. उन्होंने कहा कि इन विभागों का पुलिस के सामने पेश होने वाली मुश्किलों को जनता तक पहुँचाने के अलावा बदलाव के कारण पुलिसकर्मियों के जीवन में आने वाली दिक्कतों से निपटने की दिशा में भी काम करना है. उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मियों में जो आवासीय संतुष्टि 2019 में 19 प्रतिशत थी वो 2024 तक 40 प्रतिशत तक कर पाने की क्षमता है. श्री शाह ने नारकोटिक्स, आतंकवाद, साइबर हमले, जाली करेंसी और रोजमर्रा के जीवन में होने वाले अपराधों से निपटने में दिल्ली पुलिस के काम की तारीफ की. साथ ही कहा कि जब भारत की आजादी के साथ दिल्ली पुलिस की भी शताब्दी मनाई जाएगी तब दिल्ली पुलिस दुनिया की बेहतरीन पुलिस के तौर पर प्रतिष्ठित होने की सफलता हासिल कर लेगी.

दिल्ली पुलिस
इस अवसर पर शानदार परेड का आयोजन हुआ.

खास बात ये कि पुलिस के इस कार्यक्रम में गृहमंत्री अमित शाह और उन्हीं के गृह राज्य गुजरात से सांसद व केन्द्रीय मंत्री देवू सिंह चौहान भगवा रंग की पगड़ी पहन कर मंच पर उपस्थित थे. दोनों ने इस अवसर स्थापना दिवस की स्मृति के तौर पर एक डाक टिकट भी जारी किया. इस दौरान उनके साथ मंच पर उनके साथ दिल्ली पुलिस के कमिश्नर राकेश अस्थाना भी थे. ये तस्वीर श्री चौहान ने ट्वीट की है. दिल्ली पुलिस के कई पूर्व कमिश्नर तिलक राज कक्कड़, बी के गुप्ता और अन्य रिटायर्ड वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे. दिल्ली पुलिस के एक अन्य पूर्व कमिश्नर और उत्तराखंड के राज्यपाल रहे कृष्ण कांत पॉल के अलावा भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी और पुदुचेर्री की पूर्व उप राज्यपाल किरन बेदी भी इस मौके पर आमंत्रित अतिथियों में शामिल थे. इस अवसर पर शानदार परेड का आयोजन हुआ जिसकी सलामी श्री शाह ने ली. दिल्ली पुलिस का बैंड, कमांडो दस्ता, घुड़सवार दल और महिला पुलिस दस्ता भी परेड में शामिल था.