पीएम नरेंद्र मोदी और युवा आईपीएस अधिकारी : चर्चा, उम्मीदें और नसीहतें

211
राष्ट्रीय पुलिस अकादमी
प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने हैदराबाद स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में प्रशिक्षु पुलिस अधिकारियों से वर्चुअल बातचीत की.

भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने आज हैदराबाद स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में प्रशिक्षु पुलिस अधिकारियों से वर्चुअल बातचीत में पुलिस, कानून व्यवस्था और अपराधों की रोकथाम जैसे विषयों के साथ साथ देश और समाज के विभिन्न वर्गों को सशक्त करने और विकास कार्यों में पुलिस अधिकारियों की भूमिका पर चर्चा की. इस दौरान प्रधानमन्त्री मोदी ने अधिकारियों से उनके विचार जानें और अपने सुझाव भी उनको दिए. इस वर्चुअल बातचीत में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद थे.

राष्ट्रीय पुलिस अकादमी
प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने हैदराबाद स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में प्रशिक्षु पुलिस अधिकारियों से वर्चुअल बातचीत की.

प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने आजादी के दौर में दांडी यात्रा के बाद 30 के दशक से 1947 तक, अंग्रेज़ी शासन से आजादी हासिल करने के लिए, स्वतंत्रता आन्दोलन में युवाओं की भूमिका का ज़िक्र करते हुए कहा कि वे स्वराज के लिए लड़े थे और आज के युवा को सुराज के लिए जुटना है. पीएम मोदी ने नौजवानों के जोश के सन्दर्भ में कहा, ” उनका देश के लिए मर मिटने वाला भाव था, आज देश के लिए जीने वाला भाव होना चाहिए”.

राष्ट्रीय पुलिस अकादमी
प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने हैदराबाद स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में प्रशिक्षु पुलिस अधिकारियों से वर्चुअल बातचीत की.

प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय पुलिस सेवा के इन युवा अधिकारियों से वर्तमान और आने वाली चुनौतियों पर चर्चा की और कहा कि बदलाव की तरफ बढ़ रहे भारत के लिए आने वाले 25 साल और उनके करियर के 25 साल बेहद महत्वपूर्ण हैं क्यूंकि इन 25 साल के पूरे होने के साथ आज़ाद भारत 100 बरस का हो जायेगा इसलिए ये 25 साल बहुत ख़ास हैं. उन्होंने कहा कि आधुनिक, प्रभावी और संवेदनशील पुलिस सेवा की जिम्मेवारी उन पर है और उनके (अधिकारियों) लिए ये 25 साल का मिशन है जिसके लिए भारत ने उनको चुना है.

राष्ट्रीय पुलिस अकादमी
प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने हैदराबाद स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में प्रशिक्षु पुलिस अधिकारियों से वर्चुअल बातचीत की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवा पुलिस अधिकारियों से आधुनिक तकनीक से अपराधों की रोकथाम पर ध्यान देने के साथ एक नसीहत और दी. प्रधानमन्त्री ने पुलिस अधिकारियों से अपनी सोच और कार्यक्षमता बढ़ाते हुए दायरा भी बढ़ाने को कहा. पीएम मोदी ने कार्यक्रम के अंत में अपने सम्बोधन में आईपीएस प्रशिक्षुओं को नसीहत देने वाले अंदाज़ में कहा कि वे खुद को थाने और पुलिस मुख्यालय के बीच ही सीमित न रखें. उन्हें इससे भी आगे सोचना चाहिए.