जब दिल्ली में पुलिस उपायुक्त (DCP) मोनिका भारद्वाज मोटर साइकिल गश्त पर खुद निकलीं

1574
Symbolic Image
Symbolic Image

भारत की राजधानी दिल्ली में पुलिस ने कल रविवार को यूँ तो विभिन्न क्षेत्रों में विशेष मोटर साइकिल गश्त की लेकिन पश्चिम जिले का नज़ारा कुछ अलग ही था. वजह ये थी कि यहाँ गश्त करती पीली मोटरसाइकिलों पर वरिष्ठ अधिकारी भी सवार दिखाई दिए और इनमें खासी तादाद महिलाओं की भी थी. और तो और दिलचस्प तो ये भी था कि मोटर साइकिल गश्त की कुछ जगह तो कमान जिले की नवनियुक्त उपायुक्त (DCP) मोनिका भारद्वाज ने सम्भाली थी.

पुलिस
पुलिस उपायुक्त मोनिका भारद्वाज विशेष मोटर साइकिल दस्ते के साथ गश्त पर निकलीं.

पुलिस परिवार से ताल्लुक रखने वाली भारतीय पुलिस सेवा (IPS) की ये अधिकारी मोनिका भारद्वाज मानती हैं कि महिला पुलिस कर्मियों की सार्वजनिक जगहों पर मौजूदगी घरों से बाहर निकलने वाली महिलाओं में सुरक्षा की भावना बढ़ाने में मदद करती है. यही वजह थी कि पश्चिम दिल्ली के बाज़ारों, माल्स और उन तमाम सार्वजनिक जगहों पर पुलिस के ये पेट्रोलिंग दस्ता ज़्यादा देखा गया जहां जहां महिलाओं का आना जाना ज़्यादा होता है.

पुलिस
मोनिका भारद्वाज ने गश्त के दौरान लोगों से मुलाकात की और उनकी समस्याएं जानीं.

मोनिका भारद्वाज ही नहीं उनके साथ जिले में दूसरे नम्बर पर अतिरिक्त उपायुक्त (एडिशनल डीसीपी) समीर शर्मा, तमाम सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) और सभी थाना प्रभारी (एसएचओ) भी मोटर साइकिल गश्त पर दिखाई दिए. इसके लिए बनाये गये रूट में उन जगहों को खासतौर से शुमार किया गया था जहां के रास्तों पर महिलाओं के अपराध का शिकार होने की आशंका ज़्यादा बनी रहती है जैसे कि छेड़छाड़, चेन, पर्स या मोबाइल फोन झपटे जाना. डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने बताया कि आज की गश्त में 18 तो महिला पुलिस अधिकारी ही शामिल की गई हैं.

पुलिस
मोनिका भारद्वाज ने महिलाओं से भी बात की.

लोगों की शिकायतें और परेशानियां सुनीं

डीसीपी मोनिका भारद्वाज गश्त के दौरान मोटर साइकिल रुकवाकर जगह जगह रुकीं और लोगों से बातचीत करती दिखाई दीं. पेसिफिक मॉल, टी सी कैम्प, श्याम नगर झुग्गी बस्ती और तिलक नगर की मेन मार्केट कुछ ऐसी जगह थीं जहां उन्होंने लोगों की शिकायतें और परेशानियां सुनीं. कुछ तो बहुत ही छोटे छोटे मसले थे जिनका हल तुरंत ही किया गया. कुछ जगह तो इस पुलिस ने यातायात नियम तोड़ने वालों पर भी कार्रवाई की.