आतंकवादियों की कायराना करतूत : पीठ पीछे से गोलियां बरसा इंस्पेक्टर की जान ली

125
जम्मू कश्मीर पुलिस
जम्मू कश्मीर पुलिस के इंस्पेक्टर परवेज़ अहमद डार (फाइल)

जम्मू कश्मीर पुलिस के एक इंस्पेक्टर की आतंकवादियों ने सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी. परवेज़ अहमद डार नाम के ये इंस्पेक्टर सीआईडी में तैनात थे और वारदात मंगलवार तब की है जब वह नमाज़ पढ़कर घर लौट रहे थे.

राजधानी श्रीनगर में हुई इस वारदात पर जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने अफ़सोस ज़ाहिर करते हुए इंस्पेक्टर परवेज़ अहमद डार के परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करते कहा है कि परवेज़ अहमद की शहादत बेकार नहीं जायेगी.

वहीं अनन्तनाग के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) इम्तियाज़ हुसैन ने इस घटना को आतंकवादियों की कायराना करतूत कहा है. उन्होंने कहा कि इंस्पेक्टर परवेज़ हमेशा मुस्कराते रहने वाले एक शानदार पुलिस अधिकारी थे और उनकी कमी हमेशा महसूस हुआ करेगी.

वारदात श्रीनगर के बाहरी इलाके नौगाम में कनीपोरा मस्जिद के पास हुई. जिस वक्त इंस्पेक्टर परवेज़ अहमद नमाज़ अता करने के बाद घर वापस जा रहे थे तभी, पहले से घात लगाकर बैठे आतंकवादियों ने उन पर पीठ पीछे से गोलियां बरसाई. ये पूरी वारदात पास में लगे सीसीटीवी में रिकार्ड भी हुई है. वीडियो रिकॉर्डिंग में दो आतंकवादी परवेज़ अहमद पर पीछे से हमला करते दिखाई दे रहे हैं. हमला करने के बाद आतंकवादी फरार हो गये.

गोलियां लगने से घायल होकर गिर पड़े इन्स्पेक्टर परवेज़ को श्री महाराजा हरी सिंह अस्पताल ले जाया गया लेकिन रास्ते में ही उनके प्राण निकल गये थे. डॉक्टरों ने बतया कि उनको कई गोलियां लगीं थीं. परवेज अहमद डार 2000 में जम्मू कश्मीर पुलिस में सब इन्स्पेक्टर के तौर पर भर्ती हुए थे. उनके परिवार में पत्नी, 13 और 10 साल के दो बच्चे हैं.