एसपी ने एएसपी को मारा थप्पड़, सीएम के सुरक्षा अधिकारी ने एसपी को मारी लात

196
हिमाचल पुलिस
बाएं थप्पड़ और दाएं लात

भारत में देवभूमि कहे जाने वाले प्रान्त हिमाचल प्रदेश में अजीबोगरीब और शर्मनाक वाकया तब पेश आया जब वीआईपी सुरक्षा को लेकर पुलिस अधिकारियों के बीच विवाद इतना बढ़ गया की बात तू तू मैं मैं से लेकर हाथपाई तक जा पहुंची. अफ़सोसनाक तो ये था कि ये सब वरिष्ठ अधिकारीयों के बीच हुआ और वो भी तब जब वहां केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के अलावा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी आसपास मौजूद थे. मामला असल में तब बढा जब भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी कुल्लू के पुलिस अधीक्षक (एसपी) गौरव सिंह ने बहसबाज़ी के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सुरक्षा अधिकारी और हिमाचल पुलिस सेवा के एएसपी ब्रजेश सूद को थप्पड़ मार दिया और इसके जवाब में सीएम सुरक्षा में तैनात दूसरे अधिकारी ने एसपी गौरव सिंह को लात मार दी.

ये सब पब्लिक के सामने हुआ और हंगामा होने लगा. लोगों ने इसका वीडियो बना लिया जो वायरल भी हो गया. फिलहाल तीनों अधिकारियों को वर्तमान ड्यूटी से हटा दिया गया है और पूरे मामले की जांच पुलिस उपमहानिरीक्षक स्तर के अधिकारी को दी गई है. मुख्यमंत्री ने इस जांच को तीन दिन में पूरा करके रिपोर्ट देने को कहा है. जिसने एसपी गौरव को लात मारी वो सहायक उपनिरीक्षक (एएसआई) बलवंत सिंह है.

हिमाचल पुलिस
भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी कुल्लू के पुलिस अधीक्षक (एसपी) गौरव सिंह

 

असल में कारण केन्द्रीय भूतल और परिवहन मंत्री का बिना पूर्व कार्यक्रम के अचानक अपनी कार रुकवाकर उससे उतरना और फिर रास्ते में खड़े लोगों से मिलकर बात करना रहा. नितिन गडकरी के काफिले के पीछे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का काफिला आ रहा था जो उन्हें भुंतर हवाई पट्टी पर स्वागत करके साथ लाने गए थे. जब तक जयराम ठाकुर, लोगों से बात कर रहे, नितिन गडकरी तक पहुँचते तब तक गडकरी कार में बैठकर चल दिए. सीएम को उन तक पहुँचने में देर इसलिए लगी क्यूंकि दोनों काफिलों के बीच जनता थी. ये वो लोग थे जो हिमाचल प्रदेश में राष्ट्रीय राजमार्ग के चौड़ीकरण (चार लेन बनाने) से प्रभावित थे और अपनी मांग पूरी करने के लिए नितिन गडकरी से कहने के लिए इकठ्ठा हो कर आये थे. ये किसान संघ के कार्यकर्ता भी बताये जाते हैं.

नितिन गडकरी यहाँ कुल्लू मनाली में ठंडक का मजा लेने के साथ साथ कुछ काम करने भी आये हैं. कुछ परियोजनाओं की शुरुआत के साथ बैठकें भी होनी हैं.

पुलिस अधिकारियों के विवाद की खबर फैली तो हिमाचल प्रदेश के पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू खुद कुल्लू के लिए रवाना हो गये. वैसे पूरे मामले की जांच के लिए सेंट्रल रेंज के उपमहानिरीक्षक मधुसुदन को ज़िम्मा दिया गया है.

इस घटना का जो वीडियो वायरल हुआ है उसमें एक सुरक्षा अधिकारी एसपी गौरव सिंह को लात मारता दिखाई देता है और इसके साथ ही जनता में शोर मच जाता है की एसपी साहब को लात मार दी. इस बात के फैलने से हंगामा मच गया क्यूंकि आईपीएस गौरव सिंह कुल्लू में नशीले कारोबार के तस्करों की धरपकड़ के कारण लोकप्रिय हो चुके हैं. ऐसे में उनके साथ बदसलूकी लोगों की नाराजगी और हंगामे का कारण बनी.