यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा पेपरलीक केस में दिल्ली पुलिस का सिपाही गिरफ्तार

21
यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा पेपरलीक केस में दिल्ली पुलिस का सिपाही गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश पुलिस ( uttar pradesh police)  में सिपाहियों की भर्ती परीक्षा के पेपर लीक रैकेट (paper leak racket ) में शामिल दिल्ली पुलिस के एक सिपाही विक्रम पहल को  गिरफ्तार किया गया है.  बताया जा रहा है कि वह इस रैकेट के मास्टरमाइंड रवि अत्री के संपर्क में था और उसने परीक्षा देने वाले नौजवानों को हरियाणा के एक रिसॉर्ट में पेपर मुहैया कराया था. बीस लाख रूपये किराए पर यह रेसॉर्ट लिया गया था और बड़ी तादाद में उम्मीदवार एक रात यहीं पर रुके भी थे.

यूपी पुलिस की एसटीएफ (up police stf) की  टीम ने विक्रम पहल को ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे से बागपत के पास गिरफ्तार किया. उसका रिकॉर्ड बताता है कि वह दिल्ली से हरियाणा और राजस्थान के बहुत चक्कर  लगाया करता था . विक्रम पहल दिल्ली पुलिस में 14 साल से है. उसकी तैनाती विभिन्न बटालियन ,वीआईपी सुरक्षा और ट्रैफिक पुलिस में भी रही है .

यूपी पुलिस ( up police ) में सिपाही के तौर में भर्ती के लिए उत्तर प्रदेश में अलग अलग केन्द्रों पर हुई इस  परीक्षा  में  43 लाख से ज्यादा उम्मीदवार बैठे थे. यह परीक्षा 17 और 18 फरवरी को हुई थी. यूपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा ( up police constable recruitment examination) के पेपर लीक केस में यह 42वीं गिरफ्तारी है और  इस केस की तफ्तीश 6 राज्यों बिहार , हरियाणा , दिल्ली , मध्य प्रदेश , गुजरात और उत्तर प्रदेश में फैली हुई है .

पुलिस के मुताबिक़ पूछताछ के दौरान विक्रम पहल (vikram pahal ) ने बताया है कि उसके साथ पढ़ने वाले हरियाणा के  सोनीपत निवासी नितिन ने उसको 2021 में रवि अत्री से मिलवाया था. नितिन प्रतियोगी परीक्षाओं में ‘सोल्वर ‘ ( solver ) का काम करता था. रवि अत्री ( जो गिफ्तार हो चुका है ) के कहने पर विक्रम ने अपने साथी के ज़रिए रेसॉर्ट बुक करवाया था. रवि अत्री ने उससे कहा था कि किसी ऐसे  होटल का इंतजाम करना जहां पेपर लेने के लिए एक हज़ार से ज्यादा उम्मीदवार तक होटल मैं  आ सकते हों.