रांची ग्रुप सेंटर में अलंकरण : झारखण्ड पुलिस और सीआरपीएफ अधिकारी सम्मानित

1068
सीआरपीएफ
सीआरपीएफ एवं झारखण्ड पुलिस के अधिकारियों एवं अन्य कार्मिकों को उनके उत्कृष्ट एवं सराहनीय कार्यों के लिए अलंकृत किया गया.

केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ-CRPF) के रांची ग्रुप केंद्र में आयोजित अलंकरण समारोह में राज्य पुलिस के 3 अधिकारियों सहित CRPF के 51 अधिकारियों एवं कार्मिकों को महानिदेशक सीआरपीएफ प्रशंसा डिस्क एवं प्रशस्ति पत्र तथा 11 अधिकारियों एवं कार्मिकों को महानिरीक्षक झारखण्ड सेक्टर, सीआरपीएफ का प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया. इस अवसर पर CRPF झारखण्ड सेक्टर के पुलिस महानिरीक्षक संजय आनंद लाठकर मुख्य अतिथि थे.

ये सम्मान व पुरस्कार झारखण्ड राज्य में तैनाती के दौरान साल 2018 में सीआरपीएफ एवं राज्य पुलिस के अधिकारियो एवं अन्य कार्मिकों को उनके उत्कृष्ट एवं सराहनीय कार्यों के लिए हैं.

मुख्य अतिथि के तौर पर आईपीएस अधिकारी संजय आनंद लाठकर ने अपने संबोधन में सबसे पहले महानिदेशक CRPF डिस्क से सम्मानित झारखंड पुलिस के तीनों अधिकारियों आरिफ इकराम (पुलिस उपाधीक्षक DSP), पंकज कुमार राय एवं राकेश रोशन का विशेष आभार व्यक्त करते हुये बताया कि झारखण्ड में सीआरपीएफ की परिचालनिक सफलता में इन तीनों पदाधिकरियों का बहुत महत्वपूर्ण योगदान रहा है जिसके कारण वह महानिदेशक CRPF के प्रशंसा डिस्क एवं प्रशस्ति पत्र प्राप्त करने के पात्र बने हैं.

आईजी संजय आनंद लाठकर ने कहा कि हमारे अधिकारी एवं जवान अपने सुख और सुविधाओं को प्राथमिकता नहीं देते हुए देश के असामाजिक तत्वों को ढूंढ-ढूंढ कर उनका समूल नष्ट करने के लिए कटिबद्ध हैं, जिसकी वजह से हमारी आंतरिक सुरक्षा अभेद्य बनी हुई है. इन बहादुर कार्मिकों का इनकी कर्तव्यनिष्ठा एवं स्वार्थरहित कार्यों के लिए सम्मानित किए जाने से इनको पूरे देश में एक पहचान मिलती है और इन कार्मिकों को खुद पर गर्व करने का मौका देती है.

अपने संबोधन के अंत में आईपीएस अधिकारी संजय आनंद लाठकर ने कहा कि पुलिस बल के सदस्य होने के नाते हमारा धर्म और कर्म दोनों ही देश सेवा है. इस कर्तव्य के निर्वहन में हमारे बीच क्षेत्रवाद, भाषावाद अथवा जातिवाद जैसे विभाजित करने वाले तत्वों का कोई स्थान नही है.

इस अवसर पर अखिलेश प्रसाद सिंह (पुलिस उपमहानिरीक्षक), मनीष सच्चर (पुलिस उपमहानिरीक्षक), प्रभात संदवार, विकास पांडेय, अखिलेश कुमार यादव, द्वितीय कमान अधिकारी समेत CRPF के अन्य वरिष्ठ अधिकारी व बड़ी संख्या में जवान उपस्थित रहे.