ITBP कैडर अधिकारियों की तरक्की का रास्ता साफ, समीक्षा प्रस्ताव मंजूर

26
प्रतीकात्मक फोटो

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत तिब्बतत सीमा पुलिस (आईटीबीपी ITBP) के ग्रुप ‘ए’ सामान्य ड्यूटी (कार्यकारी) कैडर और गैर-सामान्य ड्यूटी कैडर के समीक्षा प्रस्ताव को मंजूरी दी है. इसके तहत आईटीबीपी के वरिष्ठम ड्यूटी पदों में पर्यवेक्षीय स्टाफ बढ़ाने के लिए सहायक कमांडेंट से अपर महानिदेशक तक के विभिन्न पदों में ग्रुप ‘ए’ सामान्यं ड्यूटी (कार्यकारी) कैडर और गैर-सामान्य ड्यूटी कैडर की कैडर समीक्षा करने और अपर महानिदेशक के नेतृत्व और महानिरीक्षक के अधीन दो नई कमानों (चंडीगढ़ में पश्चिमी कमान और गुवाहाटी में पूर्वी कमान) का गठन किया जाएगा.

मुख्य प्रभाव:

एक सरकारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक़ ITBP में इन ग्रुप ‘ए’ पदों के सृजन के बाद इस बल में पर्यवेक्षीय दक्षता तथा क्षमता निर्माण में बढ़ोतरी होगी. इस बल में ग्रुप ‘ए’ कैडर समीक्षा में प्रस्तावित पदों के समय पर सृजन से बल की पर्यवेक्षीय तथा प्रशासन क्षमताओं में वृद्धि होगी. इससे विभिन्न स्तरों पर ग्रुप ‘ए’ कार्यकारी सामान्य ड्यूटी कैडर में 60 पद और ग्रुप ‘ए’ गैर सामान्य कैडर में दो पद सृजित होंगे. साथ ही यह प्रस्ताव अपर महानिदेशक के नेतृत्व और महानिरीक्षक के सहयोग में दो नई कमानों (चंडीगढ़ में पश्चिमी कमान और गुवाहाटी में पूर्वी कमान) के गठन के लिए भी है.

औपचारिक अधिसूचना या स्वीकृति प्राप्त होने पर इन नए सृजित पदों को भर्ती नियमों के प्रावधानों के अनुसार भरा जाएगा. इससे सामान्य ड्यूटी कैडर में ग्रुप ‘ए’ पदों के मौजूदा ढांचे को निम्नानुसार 1147 से बढ़ाकर 1207 किया जाएगा. अलग अलग पद में वृद्धि के हिसाब से देखें तो अपर महानिदेशक के 2 पद, महानिरीक्षक और उपमहानिरीक्षक के 10-10 पद बढ़ेंगे. इनके अलावा कमाडेंट के 13 पद, सेकंड इन कमान के 16 और उप कमांडेंट के 9 पद बढ़ेंगे. वहीँ गैर-सामान्य ड्यूटी कैडर में महानिदेशक के दो नये पदों का सृजन होगा.

आईटीबीपी की पृष्ठभूमि :

भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल की अवधारणा वर्ष 1962 में भारत की उत्तरी सीमाओं पर चीनी आक्रमण के बाद हुए विचार मंथन के तहत की गई थी. पहली बार आईटीबीपी की चार मददगार बटालियन बनाई गई थीं. इसके बाद क्रमश: 1978 और 1987 में पुनर्संगठन और कैडर पुनर्गठन के तरीके से जरूरत के आधार पर इस बल का कई गुणा विस्तार किया गया. वर्ष 1988 में आईटीबीपी की पहली कैडर समीक्षा की गई तथा बल की संख्या बढ़ाकर 27,298 की गई. दूसरी कैडर समीक्षा 2001 में की गई और आईटीबीपी की संख्या बढ़कर 32,386 हो गई. वर्तमान में ये संख्या बढ़कर 89,429 हो गई है.

वर्तमान अधिकारी :

वर्तमान में महानिदेशक का एक पद है जो इस बल का मुखिया है. इसके अलावा बल के मुख्यालय में अपर महानिदेशक का एक पद है. आईटीबीपी में महानिरीक्षक/सामान्य ड्यूटी (कार्यकारी) कैडर के अधिकृत 10 पद हैं. महानिदेशक और अपर महानिदेशक के पदों को प्रतिनियुक्ति पर आईपीएस अधिकारियों से भरा जाता है, जबकि महानिरीक्षक (आईजी) के 50 प्रति‍शत पद प्रतिनियुक्ति स्तर पर तथा उप महानिरीक्षक (डीआईजी) के 80 प्रतिशत पदों को कैडर अधिकारियों की पदोन्नति द्वारा भरा जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here