ईद मनाने घर आया Territorial Army का जवान मंजूर अहमद बेग शहीद

47
Incidental Image
शहीद जवान की मंजूर अहमद बेग

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में ईद की छुट्टी पर घर आए सेना की टेरिटोरियल आर्मी (Territorial Army-TA) के एक जवान की गुरुवार को आतंकियों ने उनके घर में घुसकर गोली बरसा कर हत्या कर दी. वारदात को अंजाम देने के बाद आतंकी फरार हो गए. शहीद जवान की पहचान मंजूर अहमद बेग के रूप में हुई है. वह सदुरा गांव (अनतंनाग) के रहने वाले थे. घटना के वक्त मंजूर के पास आत्मरक्षा के लिए कोई हथियार नहीं था. मंजूर 4 जून को 12 दिन के लिए छुट्टी लेकर घर आए थे. मौके पर पहुंचे सुरक्षाबलों ने आतंकियों की धरपकड़ के लिए पूरे क्षेत्र को घेरकर तलाशी अभियान शुरू कर दिया. देर रात तक किसी आतंकी के पकड़े या मारे जाने की कोई सूचना नहीं थी.

मंजूर अहमद बेग मौजूदा समय में सेना की 34 आरआर के साथ दक्षिण कश्मीर के शोपियां में तैनात था. कुछ दिन पहले वह ईद मनाने के लिए छुट्टी लेकर घर आया था. गत बुधवार को ईद के चलते घर में अभी खुशियों का माहौल था. गुरुवार देर शाम करीब आठ बजे हथियारबंद आतंकी मंजूर के घर में घुस आए. इससे पहले कि परिवारवाले कुछ समझ पाते आतंकियों ने मंजूर पर अंधाधुंध गोलियां बरसाना शुरू कर दीं. वारदात को अंजाम देने के बाद आतंकी भाग निकले.

आनन-फानन में खून से लथपथ मंजूर को परिवारवालों ने अस्पताल पहुंचाया, जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया.
हाल-फिलहाल में छुट्टी पर आए जवानों की हत्या की यह कोई पहली घटना नहीं है. 14 जून, 2018 को सेना का जवान औरंगजेब भी ईद मनाने के लिए छुट्टी पर अपने घर जम्मू संभाग के पुंछ जिले में आ रहा था. इस दौरान आतंकियों ने रास्ते से अगवा कर उसकी हत्या कर दी थी.

इसके बाद 28 अक्टूबर 2018 को पुलिस के सब इंस्पेक्टर इम्तियाज अहमद की आतंकियों ने पुलवामा में हत्या कर दी थी. वह छुट्टी पर अपने घर अपनी निजी कार से जा रहे थे. इससे पहले 09 मई 2017 को आतंकियों ने अपने रिश्तेदार की शादी में शिरकत करने शोपियां आए 22 वर्षीय लेफ्टिनेंट उमर फैयाज को पहले अगवा किया और फिर जंगल में ले जाकर उनकी हत्या कर दी थी. आतंकियों ने गोलियों से छलनी करने से पहले फैयाज का वीडियो बनाया था और वायरल कर दिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here