नौसेना की ‘द कोबरा’ डायमंड जुबली मना रही है, कोविड संकट में 1000 उड़ानें भरीं

128
द कोबरा
21 मार्च 2021 को भारतीय नौसेना की सर्वाधिक सुसज्जित इकाई आईएनएएस 310 डायमंड जुबली मना रही है.

गोवा स्थित भारतीय नौसेना की एक समुद्री टोही स्क्वाड्रन इंडियन नेवल एयर स्क्वाड्रन (आईएनएएस INAS) 310 ‘द कोबरा’ आज (21 मार्च) अपनी डायमंड जुबली मना रही है. आज ही के दिन यानि दिनांक 21 मार्च को साल 19 61 को फ्रांस के हाइरेस में कमीशन प्राप्त इस स्क्वाड्रन को भारतीय नौसेना की सबसे अलंकृत इकाई होने का गौरव हासिल है. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस 19 के शुरुआत के बाद से ही इसने कई तरह की सेवाएं दीं.

द कोबरा
आईएनएएस 310 डायमंड जुबली

आईएनएएस 310 ने 1961 के बाद से कई ऑपरेशन्स में देश के लिए अभूतपूर्व काम किया हैं. समुद्र तट पर दैनिक निगरानी अभियानों को अंजाम देने का भी इसका काम जारी है. स्क्वाड्रन ने 1991 तक एलिज़ विमान का संचालन किया और बाद में तट आधारित डोर्नियर-228 विमान इसका हिस्सा बने.

द कोबरा
आईएनएएस 310 डायमंड जुबली

पिछले एक साल में कोविड 19 महामारी के बीच, स्क्वाड्रन के विमानों ने समूचे भारत में उड़ान भर कर महत्वपूर्ण चिकित्सा आपूर्ति की है. कोविड परीक्षण किट की आपूर्ति तो की ही, चिकित्सा टीमों और चिकित्सा संबंधी साजोसामान को लाने ले जाने का काम भी किया है. इस तमाम तरह के काम करने के लिए इस स्क्वाड्रन के विमानों ने तकरीबन 1000 उड़ानें भरी हैं.

द कोबरा
आईएनएएस 310 डायमंड जुबली