भारत और चीन के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास हैंड इन हैंड-2018 शुरू हुआ

840
हैंड इन हैंड-2018
हैंड इन हैंड-2018 (Hand in Hand) में भारतीय टुकड़ी का नेतृत्व 11 सिख लाइट इन्फेन्ट्री के कमांडिंग अफसर कर्नल पुनीत प्रताप सिंह तोमर कर रहे हैं.

भारत और चीन के बीच सातवें संयुक्त सैन्य अभ्यास हैंड इन हैंड-2018 का उद्घाटन समारोह मंगलवार को चीन के चेंगडू में आयोजित किया गया. ये सैन्य अभ्यास सोमवार यानि 10 दिसम्बर से शुरू हुआ है जो 23 दिसम्बर तक किया जा रहा है. भारतीय सेना की तरफ से एक कंपनी के आकार की 11 सिख लाइट इन्फेन्ट्री टुकड़ियां और चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA-पीएलए) की तिब्बती मिलिटरी जिले से एक रेजिमेंट संयुक्त सैन्य अभ्यास में हिस्सा ले रही हैं.

हैंड इन हैंड-2018
चीनी फौजी टुकड़ी का नेतृत्व कर्नल झोउ जुन ने किया.
हैंड इन हैंड-2018
हैंड इन हैंड नाम के इस अभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों की सेनाओं के बीच मजबूत संबंध बनाना और उन्हें बढ़ावा देना है.
हैंड इन हैंड-2018
भारत और चीन के बीच सातवें संयुक्त सैन्य अभ्यास हैंड इन हैंड-2018 का उद्घाटन समारोह मंगलवार को चीन के चेंगडू में आयोजित किया गया.

हैंड इन हैंड-2018 (Hand in Hand) में भारतीय टुकड़ी का नेतृत्व 11 सिख लाइट इन्फेन्ट्री के कमांडिंग अफसर कर्नल पुनीत प्रताप सिंह तोमर कर रहे हैं जबकि चीनी फौजी टुकड़ी का नेतृत्व कर्नल झोउ जुन कर रहे हैं. पीएलए के संयुक्त प्रशिक्षण के वरिष्ठ प्रतिनिधि मेजर जनरल कुवांग देवांग ने दोनों देशों के कई अधिकारियों की मौजूदगी में परेड का निरीक्षण किया.

इस अभ्यास के दौरान अंदरूनी (इनडोर-Indoor) कक्षाएं और बाहरी (आउटडोर -outdoor) प्रशिक्षण गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं. हैंड इन हैंड नाम के इस अभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों की सेनाओं के बीच मजबूत संबंध बनाना और उन्हें बढ़ावा देना है.

संयुक्त अभ्यास कंमाडर की क्षमता में बढ़ोत्तरी करना भी ‘हैंड इन हैंड’ का लक्ष्य है ताकि दोनों देशों की सैन्य टुकड़ियां कमान के अंतर्गत काम कर सकें. ये अभ्यास के संयुक्त राष्ट्र के आदेश के तहत किया जा रहा है जिसमें किसी देश में विघटनकारी और आतंकवादी गतिविधियों के मुकाबले के लिए कार्रवाईयों का प्रशिक्षण भी शामिल होगा.