रक्षा प्रदर्शनी DefExpo 2020 लखनऊ में 5 से 8 फरवरी तक होगी

22
लखनऊ में होने वाले डिफेंस एक्स्पो इंडिया (DefExpoIndia)की तैयारियों को लेकर सोमवार को दिल्ली में एक बैठक आयोजित की गई जिसमें कई बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा हुई.

भारत में विशाल रक्षा प्रदर्शनी डिफेन्स एक्सपो 2020 (DefExpo 2020) का आयोजन देश के सबसे बड़े राज्यों में से एक उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 5 से 8 फरवरी तक होगा. भारत के अलावा, रक्षा उत्पाद बनाने वाली या इस क्षेत्र में सेवायें देने वाली कई देशी-विदेशी कम्पनियों के इसमें हिस्सा लेने की उम्मीद है. प्रदर्शनी के लिए राजधानी में 300 एकड़ जमीन का बन्दोबस्त किया गया है.

डिफेन्स एक्सपो 2020 के आयोजन की योजना और तैयारी की समीक्षा के लिए सोमवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में डिफेन्स एक्सपो की उच्चस्तरीय समिति की पहली बैठक हुई जिसमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे. लखनऊ में इस तरह का ये पहला आयोजन है जिसमें रक्षा के क्षेत्र की देश और दुनिया की ऊँचे दर्जे की निर्माता कम्पनियां आएँगी. इस मौके को उत्तर प्रदेश के लिए रक्षा उत्पाद गलियारा तैयार करने की कवायद के तौर पर भी समझा जा रहा है जिसमें निवेश की अपार सम्भावनाएं हैं.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को नई दिल्ली में डिफेंस एक्स्पो इंडिया (DefExpoIndia) के 11वें संस्करण की तैयारियों की समीक्षा बैठक के दौरान ब्रोशर जारी किया.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस अवसर पर अपने हाल ही के दक्षिण कोरिया के दौरे का ज़िक्र करते हुए बताया कि कई कोरियाई कम्पनियों ने उत्तर प्रदेश में निवेश करने में दिलचस्पी दिखाई है. एक समय में खुद इस प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे राजनाथ सिंह ने इस आयोजन की सफलता में उत्तर प्रदेश सरकार से भरपूर सहयोग मिलने का विश्वास व्यक्त किया. इस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रक्षामंत्री को न सिर्फ भरोसा दिलाया बल्कि कहा कि उत्तर प्रदेश के लिए डिफेंस एक्सपो 2020 की मेज़बानी करना फख्र की बात है. योगी आदित्यनाथ ने डिफेन्स एक्सपो की आयोजन स्थली के तौर पर लखनऊ का चयन करने पर भारत सरकार का आभार व्यक्त किया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आयोजन स्थल पर लेवलिंग का काम शुरू हो चुका है और इस महीने के अंत तक जगह आयोजन के लिए सौंप दी जाएगी. उन्होंने ये भी बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने निवेश की इच्छुक कम्पनियों के लिए 3000 एकड़ भूमि का बन्दोबस्त कर रखा है. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यहाँ निवेश करने वालों को सभी तरह का ज़रूरी सहयोग भी प्रदान किया जायेगा.

डिफेन्स एक्सपो की समीक्षा बैठक के दौरान डिफ एक्सपो इंडिया 2020 (DefExpo India 2020) का ‘ब्रोशर’ भी जारी किया गया. प्रदर्शनी के आयोजन में विभिन्न पक्षकारों की भूमिका और काम की जिम्मेदारियों से सम्बन्धित समझौता दस्तावेजों पर रक्षा मंत्रालय और उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से विभिन्न अधिकारियों ने हस्ताक्षर किये और उनका आदान प्रदान किया.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के साथ इस बैठक में रक्षा राज्यमंत्री श्रीपद नाइक, भारत के सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह, रक्षा सचिव डा अजय कुमार, रक्षा उत्पाद सचिव सुभाष चन्द्रा, रक्षा के वित्त मामलों की सचिव गार्गी कौल, रक्षा अनुसन्धान व विकास विभाग और डीआरडीओ के चेयरमैन डा. जी. सतीश रेड्डी और मंत्रालय के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे. उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव और आयोजन के लिए नोडल एजेंसी के तौर पर हिन्दुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड के अधिकारी भी बैठक में शामिल हुए.

डिफेंस एक्सपो 2020 , भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय के तत्वावधान में आयोजित 11वीं रक्षा प्रदर्शनी है जिसके लोगो में भारत को ‘रक्षा उत्पाद का उभरता हुआ गढ़’ दिखाया गया है. इस आयोजन की थीम ‘रक्षा क्षेत्र का डिजीटल रूपांतरण’ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here