डीएसी ने नाग मिसाइल प्रणाली, 13 बंदूकों की खरीद को दी मंजूरी

503
नौसेना
नौसेना (Indian Navy) के लिए डीआरडीओ द्वारा डिजायन किए गए नाग मिसाइल प्रणाली (बाएं) और 127एमएम कैलिबर (दाएं)

नई दिल्ली. रक्षा अधिग्रहण परिषद (डीएसी) ने शुक्रवार को नौसेना (Indian Navy) के लिए डीआरडीओ द्वारा डिजायन किए गए नाग मिसाइल प्रणाली और 127एमएम कैलिबर की 13 बंदूक समेत 3,687 करोड़ रुपये अधिक के पूंजी अधिग्रहण प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है.

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्क्षयता में डीएसी ने नाग मिसाइल प्रणाली (एनएएमआईएस) की खरीद को मंजूरी दी है, जिसकी लागत 524 करोड़ रुपये है. इसका डिजायन और विकास रक्षा शोध व विकास संगठन (डीआरडीओ) ने किया है और यह भारत की बढ़ती तकनीकी शक्ति का प्रतिबिंब होने के अलावा स्वदेशीकरण को भी बढ़ावा देगा.

आधिकारिक बयान में कहा गया, “नाग मिसाइल तीसरी पीढ़ी की टैंकरोधी गाइडेड मिसाइल है, जिसमें हमले की अचूक क्षमता है और यह दिन हो या रात दुश्मन के सभी प्रकार के टैंक को नष्ट कर सकती है. इससे सेना की क्षमता को काफी बढ़ावा मिलेगा.” डीएसी ने इसके अलावा 127कैलीबर की 13 बंदूकों को नौसेना के लिए खरीद करने को मंजूरी दी, जिसे नए युद्धपोतों में लगाया जाएगा.