पाकिस्तानी एसपी ताहिर डावर की हत्या, शव अफगानिस्तान की कब्रगाह में मिला

397
ताहिर डावर
पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के एसपी ताहिर डावर. फाइल फोटो

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद से गायब हुए एक दिलेर और बेहद काबिल पुलिस अधिकारी ताहिर डावर की हत्या को लेकर पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच तनातनी चल रही है. ताहिर डावर के शरीर पर यातनाएं दिए जाने के भी निशान हैं. पाकिस्तान इस घटना को, अगवा करने के बाद कत्ल करने की आतंकवादी घटना से भी बड़ी साज़िश के तौर पर देख रहा है. ये अभी तक राज़ बना हुआ है कि 26 अक्टूबर की शाम को सैर पर निकले 50 वर्षीय पुलिस अधीक्षक (SP) ताहिर डावर अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करके करीब 200 किलोमीटर दूर अफगानिस्तान के किसी इलाके में आखिर कैसे पहुँच गये. पाकिस्तान की सरकार इसके लिए अफगानिस्तान को ज़िम्मेदार मान रही है.

गायब होने के रहस्यमय हालात :

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के एसपी ताहिर डावर छुट्टी पर इस्लामाबाद आये हुए थे और उस शाम बिना हथियार और बिना सुरक्षा गार्ड के सैर पर निकले थे. कई बार मौत को भी मात दे चुके ताहिर खान डावर का आतंकवादियों से वास्ता पड़ता रहा है. वह आतंकियों की आंखों की किरकिरी बने हुए थे और इस वजह से सुरक्षा को लेकर चौकन्ने भी रहते थे. ऐसे में उनका रहस्यपूर्ण तरीके से गायब हो जाना ज़ाहिर तौर पर हैरानी पैदा करने वाला है. 26 अक्टूबर की शाम को इस्लामाबाद के एफ -10 सेक्टर से ताहिर डावर के गायब होने के बाद से ही उनका मोबाइल फोन स्विच ऑफ हो गया था. बाद में इस फोन से एक मैसेज उनके किसी रिश्तेदार को डिलीवर हुआ था. इस आधार पर पुलिस ने जांच और छापेमारी की कार्रवाई की थी लेकिन कुछ ठोस सुराग हाथ नहीं लगा था.

प्रधानमंत्री इमरान खान के आदेश :

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एसपी ताहिर खान डावर के अपहरण और हत्या किये जाने की इस घटना की उच्चस्तरीय जांच शुरू करवाई है और इस जांच पर निगाह रखने की ज़िम्मेदारी आंतरिक मामलों के राज्य मंत्री (गृहमंत्री) शहरयार अफरीदी को दी है. अफगानिस्तान पर ताहिर डावर का शव पाकिस्तान को 15 नवम्बर को सौंपते वक्त भी देरी करने का आरोप लगा था जबकि शव को तोरखम बार्डर पर लेने के लिए सरकार की तरफ से शहरयार अफरीदी गये थे.

हत्या करके दफनाया भी :

एसपी ताहिर डावर का शव अफगानिस्तान में नंगरहार प्रांत के दुर बाबा ज़िले में बरामद होने की जानकारी अफगानिस्तान के विदेश मंत्रालय ने काबुल स्थित पाकिस्तान के कॉन्सुलेट को दी थी. शव के साथ ताहिर डावर का सर्विस कार्ड भी था. हत्या करने के बाद ताहिर डावर का शव मोमन दरा इलाके के कब्रिस्तान में दफना दिया गया था जहां से बुधवार को निकालने के बाद जलालाबाद मुख्यालय के अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया था. ताहिर के शव के पास से एक नोट भी मिला है जिसके आधार पर कहा जा रहा है की इस वारदात में किसी छोटे मोटे आतंकवादी गुट का हाथ है.

सेना भी बोली :

दूसरी तरफ पाकिस्तान की सेना ने इस घटना की कड़ी भर्त्सना करते हुए अफगानिस्तान पर अंगुली उठाई है. पाकिस्तान सेना के मुख्य प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने इस पर ट्वीट करते हुए कहा, ‘उनका अपहरण, अफगानिस्तान पहुंचना, हत्या और उसके बाद पैरवी के दौरान अफगानिस्तान के बर्ताव पर उठे सवाल इशारा करते हैं कि घटना में अफगानिस्तान के आतंकी संगठन शामिल हैं ‘.

कायदे आज़म पुलिस मेडल :

दसवीं पास करने के बाद पाकिस्तान पुलिस में सहायक सब इंस्पेक्टर के ओहदे पर भर्ती हुए ताहिर खान ने बाद में कम्पीटीशन में हिस्सा लिया और फिर एसपी के ओहदे तक पहुंचते पहुँचते फ़ोर्स में जूनियर ही नहीं सीनियर अफसरों के बीच भी लोकप्रियता और इज्जत कमाई थी. 1997 में ताहिर डावर ने पश्तो भाषा में मास्टर्स डिग्री ली और महकमे में उनकी पहचान एक अच्छे कवि के तौर पर भी थी. उन्हें पाकिस्तान सरकार ने सबसे बड़े नागरिक सम्मान क़ायदे आज़म पुलिस मेडल से भी नवाजा था.

जांबाजी भरा करियर :

एसपी ताहिर डावर का ज़्यादातर पुलिस करियर बन्नू इलाके में बीता जहां आतंकवादियों से मुकाबले के दौरान वह घायल भी हुए थे. उनको मारने के लिए आतंकी गुट ने आत्मघाती को भी भेजा लेकिन इस हमले में ताहिर डावर तो बच गये लेकिन उनका सुरक्षाकर्मी मारा गया था. एक बार तो अपने थाने में हथियार पहुंचाते वक्त उन पर गलतफहमी में पुलिस ने गोलियां बरसा दी थीं. ऐसा पुलिस के संदेशों को पहुँचाने में गड़बड़ी से हुआ था. ताहिर डावर ने संयुक्त राष्ट्र (UN) को भी दो दफा अपनी सेवायें दीं. इस दौरान 2003 में मोरक्को में और 2005 में सूडान में उनकी तैनाती रही.

पाकिस्तान में बन्नू इलाके में उनकी जान पर लगातार खतरा मंडराते रहने की वजह से ताहिर डावर का स्थानांतरण पेशावर कर दिया गया था लेकिन उनके परिवार को राजधानी इस्लामाबाद शिफ्ट कर दिया गया था. उनके परिवार में पत्नी और सात संतानें हैं.

(पाकिस्तानी मीडिया से इनपुट के साथ)