आतंकवाद की नई चुनौती के बीच जम्मू कश्मीर पुलिस की अमन की दौड़

457
J&K Police to organize“Run for Peace”
जम्मू-कश्मीर राज्य स्तरीय कश्मीर मैराथन के कार्यक्रम की जानकारी देते जम्मू कश्मीर पुलिस के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ADGP) एके चौधरी. Source/J&K Police

आतंकवाद के तीन दशक के दौर में, अन्य सुरक्षा बलों के साथ एक बार फिर से आतंक की नई चुनौतियों का सामना कर रही जम्मू कश्मीर पुलिस राजधानी श्रीनगर में मैराथन का आयोजन कर रही है. आगामी रविवार यानि 2 सितम्बर 2018 को होने वाली इस 42 किलोमीटर की कश्मीर मैराथन 2018 को ‘रन फार पीस’ (Run for Peace) यानि ‘अमन की दौड़’ नाम दिया गया है. जम्मू कश्मीर पुलिस के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ADGP) एके चौधरी ने बताया कि मैराथन में अलग अलग उम्र और महिला व पुरुष वर्गों के लिए के लिए अलग अलग पुरस्कार होने की वजह से इसमें ज़्यादा संख्या में लोगों की भागीदारी की उम्मीद है.

श्री चौधरी ने कहा कि कश्मीर मैराथन 2018 का आयोजन पुलिस और जनता के बीच सम्बन्धों की बेहतरी के मकसद से शुरू किये गये सिविक एक्शन प्रोग्राम (civic action programme) का हिस्सा है. उन्होंने बताया कि ये दौड़, जम्मू कश्मीर पुलिस की उस नीति का भी हिस्सा है जिसके तहत खेलों को और स्थानीय प्रतिभाओं को प्रोत्साहित किया जाता है. ये मैराथन सबके लिए है चाहे बच्चे हों, बुज़ुर्ग हों, लड़के-लड़कियां हों या युवक युवतियां.

जम्मू कश्मीर पुलिस के एडीजी एके चौधरी ने बताया कि कश्मीर मैराथन 2018 शान्ति के सन्देश के साथ आयोजित की जा रही है और इस दौड़ को दूरी के हिसाब से 6 हिस्सों में बांटा गया है. पुरुषों के लिए पूरी मैराथन 42 किलोमीटर की है जबकि हाफ मैराथन (Half Merathon) में पुरुष व महिलाएं दोनों ही हिस्सा ले सकते हैं. इन दोनों मैराथन की शुरुआत अलग होगी. वहीँ 8 किलोमीटर की दौड़ 14 साल से कम उम्र के लड़के और 6 किलोमीटर की दौड़ में 14 साल से कम उम्र लडकियाँ भाग सकेंगी. एक और दौड़ मस्ती और मजे के लिए है जिसे रन फार फन (Run फॉर Fun) का नाम दिया गया है. ये 4 किलोमीटर की दौड़ है और इसमें किसी भी उम्र के महिला-पुरुष हिस्सा ले सकते हैं.

J&K Police to organize“Run for Peace”
कश्मीर मैराथन का विस्तृत कार्यक्रम. Source/J&K Police