अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित 100 रुपये का भारतीय सिक्का

883
अटल बिहारी वाजपेयी
पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की पहली जयंती की पूर्व संध्या पर उनकी याद में 100 रुपये का सिक्का जारी किया गया.

भारत सरकार ने भारत रत्न और पद्म विभूषण से सम्मानित पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती की पूर्व संध्या पर सोमवार को उनके चित्र वाला सिक्का जारी किया है. 100 रुपये कीमत वाले 35 ग्राम वजनी इस सिक्के के एक सिरे पर श्री वाजपेयी के नाम के साथ उनका चित्र है. उनका नाम अंग्रेजी और देवनागरी में लिखा है. तस्वीर के नीचे श्री वाजपेयी के जन्म का साल 1924 और मृत्यु का साल 2018 लिखा है. सिक्के के दूसरे सिरे पर अशोक स्तंभ का निशान है जिसके नीचे सत्यमेव जयते लिखा है. इस सिरे पर नीचे एक तरफ देवनागरी में भारत लिखा है, जबकि दूसरी तरफ अंग्रेजी में इंडिया लिखा है. स्तंभ के नीचे रुपए का निशान और उसकी कीमत 100 अंकित है.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को नई दिल्ली में सिक्का जारी करते वक्त कहा कि कल अटल जी की उनकी विदाई के बाद की पहली जन्म जयंती है और उसके एक दिन पूर्व आज भारत सरकार की तरफ से एक स्मृति सिक्का 100 रुपये का आप सब के बीच, देशवासियों के बीच एक स्मृति के रूप में आज देने का अवसर मिला है.

प्रधानमन्त्री मोदी ने कहा : मैं नहीं मानता हूं कि यह 100 रुपये का सिक्का ही सिक्का है, क्योंकि अटल जी का सिक्का हम लोगों के दिलों पर पचास साल से ज्यादा समय चला है और जिसका सिक्का आगे भी चलने वाला है. और इसलिए जिसका जीवन भी एक सिक्का बन करके हमारी जिदंगी को चलाता रहा है, हम लोगों को प्रेरणा देता रहा है, उसको आज हम मेटल के अंदर भी चिरंजीव बनाने का एक छोटा सा प्रयास कर रहे हैं. यह भी अटल जी के प्रति आदर व्यक्त करने का एक छोटा सा प्रयास है और इसके लिए हम सभी एक संतोष की अनुभूति करते हैं.

कब कब रहे प्रधानमंत्री :

अटल बिहारी वाजपेयी सबसे पहले 1996 में 13 दिन भारत के प्रधानमंत्री रहे , 1998-99 में 13 महीने की सरकार के प्रधानमंत्री रहे लेकिन उसके बाद 1999 से 2004 तक पूरे पांच साल उनकी सरकार चली. लम्बी बीमारी के बाद 16 अगस्त 2018 को उनका देहावसान हुआ था.