AIIMS तक दिल पहुँचाने के लिए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस का ग्रीन कारीडोर

503
ग्रीन कारीडोर
इस कार में वह हार्ट है जिसका एम्स में प्रत्यारोपण किया जाना था. ट्रैफिक पुलिस ने ग्रीन कारीडोर बनाकर इसके लिये रास्ता बनाया और दिल सही समय पर एयरपोर्ट से एम्स पहुंच गया. फोटो : दिल्ली ट्रैफिक पुलिस द्वारा जारी वीडियो से.

भारत के राज्य गुजरात के एक शहर से हवाई मार्ग से दिल्ली लाये गये एक दिल को सही समय पर प्रत्यारोपण के लिए पहुँचाने के लिए यातायात पुलिस ने इंदिरा गांधी हवाई अड्डे से लेकर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान तक के रास्ते में व्यस्त समय के दौरान भी इस तरह ग्रीन कारीडोर बनाया जिससे दिल भी निश्चित समय पर पहुंचा और इससे सामान्य यातायात भी ज्यादा प्रभावित नहीं हुआ. पुलिस इसे एक उपलब्धि के साथ साथ सेवा का खूबसूरत तरीका भी मान रही है. पुलिस ने ग्रीन कॉरिडोर का वीडियो भी साझा किया है.

यातायात पुलिस के संयुक्त आयुक्त (ज्वाइंट कमिश्नर) आलोक कुमार ने बताया कि एयरपोर्ट से एम्स तक का 14 किलोमीटर का जो फासला तय करने में आमतौर पर 40 से 45 मिनट का वक्त लगता है, ग्रीन कारीडोर बनाकर ये दूरी सिर्फ 12 मिनट में तय की गयी. सूरत से लाया गया दिल जिस विमान से दिल्ली पहुंचा वो विमान सुबह 9 बजकर 55 मिनट पर हवाई अड्डे पर उतरा. करीब दस मिनट बाद यानी 10 बजकर 5 मिनट पर पुलिस के एस्कोर्ट के साथ उस वाहन ने यात्रा शुरू की जिसमें विशेष इंतजाम के साथ ह्रदय लाया गया था. दस बजकर 17 मिनट पर वो वाहन एम्स पहुंचा दिया गया था.

पुलिस का कहना है कि बन्दोबस्त इस तरह से किया गया कि जिस रूट से दिल ले जाया जा रहा था वो रास्ता उस वाहन को खाली मिले. उस रूट पर आने वाला सामान्य ट्रैफिक जहां भी रोका गया वो इस तरीके से रोका गया ताकि एक जगह ज्यादा वाहन इकठ्ठा न हों जाएँ.